scorecardresearch
 

नक्सलियों पर कहर बनकर टूट रहा है सुरक्षा बलों का ऑपरेशन प्रहार

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन प्रहार 2 के तहत नारायणपुर जिले में अलग-अलग मुठभेड़ों में सुरक्षाबलों ने एक महिला सहित छह नक्सलियों को मार गिराया. ओरक्षा इलाके में सुबह मुठभेड़ के दौरान एक महिला नक्सली और दोपहर बाद आकाबेड़ा के जंगलों में सुरक्षा बलों ने पांच नक्सलियों को मार गिराया.

ऑपरेशन प्रहार 2 के तहत हुई कार्रवाई ऑपरेशन प्रहार 2 के तहत हुई कार्रवाई

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन प्रहार 2 के तहत नारायणपुर जिले में अलग-अलग मुठभेड़ों में सुरक्षाबलों ने एक महिला सहित छह नक्सलियों को मार गिराया. ओरक्षा इलाके में सुबह मुठभेड़ के दौरान एक महिला नक्सली और दोपहर बाद आकाबेड़ा के जंगलों में सुरक्षा बलों ने पांच नक्सलियों को मार गिराया.

आईजी विवेकानंद सिन्हा ने बताया कि अबूझमाड़ से 15 किलोमीटर दूर आमदी घाटी के पिनका में पुलिस और नक्सलियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हुई. दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली भाग खड़े हुए. घटनास्थल की सर्चिंग करने पर जंगलों में पांच वर्दीधारी नक्सलियों के शव बरामद किए गए. मौके से कई खतरनाक हथियार बरामद किए गए.

स्पेशल डीजी डी.एम. अवस्थी ने कहा कि सुरक्षा बलों की ओर से सोमवार शाम से ऑपरेशन प्रहार 2 चलाया जा रहा है, जो कि लगातार अभी भी जारी है. सुकमा, दंतेवाड़ा, नारायणपुर जिलों में दो हजार से ज्यादा जवान मोर्चे पर हैं. नारायणपुर के धुरबेड़ा में सुबह हुई मुठभेड़ में एक नक्सली का शव मिला और कुछ हथियार बरामद हुए थे.

दोपहर तक इरपानार इलाके से पांच और नक्सलियों के शव बरामद कर लिए गए. नारायणपुर में ऑपरेशन की कमान एडिशनल एसपी अनिल सोनी ने संभाली है. उनके नेतृत्व में एसटीएफ के डेढ़ सौ लोग जंगल में नक्सलियों के खिलाफ मोर्चा संभाले हुए हैं. इस ऑपरेशन में और भी कई नक्सलियों के मारे जाने की उम्मीद है.

उन्होंने बताया कि ऑपरेशन के दौरान सुरक्षा बलों को बड़ी मात्रा में एक्सप्लोसिव मिला था, जिसे सुरक्षाबलों ने नष्ट कर दिया है. इसके अलावा नक्सलियों की वर्दी और दूसरे सामान भी ऑपरेशन में मिले हैं. नारायणपुर के बीहड़ों में आज तक नक्सल अभियान नहीं चलाया गया था. नक्सलियों के गढ़ में यह पहली बार अभियान चलाया गया है.

इसके पहले सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के खिलाफ प्रहार 1 चलाया था, जिसमें 20 से ज्यादा नक्सली मारे गए थे. इस ऑपरेशन में 1500 से ज्यादा जवानों ने हिस्सा लिया था. अवस्थी ने कहा कि जनवरी, 2017 से लेकर अभी तक सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 63 नक्सली मारे जा चुके हैं, जिसमें 42 इनामी थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें