scorecardresearch
 

राजसमंद: हत्यारोपी शंभू के समर्थन में खुदकुशी की कोशिश, वीडियो वायरल

अंशुल दाधीच ने हाथ में भगवा झंडा ले रखा था और 'भारत माता की जय' और 'जय श्री राम' के नारे लगा रहा था. साथ ही वह हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए शंभू लाल रैगर जैसा काम करने के लिए लोगों को उकसा भी रहा था.

X
हत्या के आरोपी शंभूलाल के हिंदूवादी संगठन कर रहे समर्थन
हत्या के आरोपी शंभूलाल के हिंदूवादी संगठन कर रहे समर्थन

राजस्थान के राजसमंद में लव जिहाद के नाम पर एक मुस्लिम शख्स की हत्या करने वाले शंभूलाल रैगर के समर्थन में जयपुर में एक व्यक्ति ने जयपुर में पानी की टंकी पर चढ़कर खुदकुशी करने की धमकी दी. पुलिस ने इस अंशुल दाधीच नाम के इस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है. उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

पुलिस के मुताबिक, शांति और सौहार्द में बाधा डालने के लिए आरोपी अंशुल दाधीच को IPC की धारा 151 के तहत गिरफ्तार किया गया. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, अंशुल दाधीच ने हाथ में भगवा झंडा ले रखा था और 'भारत माता की जय' और 'जय श्री राम' के नारे लगा रहा था. साथ ही वह हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए शंभू लाल रैगर जैसा काम करने के लिए लोगों को उकसा भी रहा था.

जब वह कूदने की कोशिश करने लगा तो लोगों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह बार-बार टंकी की रेलिंग से लटककर कूदने की कोशिश करने लगता था. आखिर में पुलिस ने उससे फोन पर बातचीत की और सुभाष चौक के थानाधिकारी ने नीचे उतरने के लिए मनाया.

जानकार सूत्रों ने बताया कि दाधीच पिछले कई सालों से एक हिंदू समूह से जुड़ा हुआ है. टंकी के नीचे खड़े लोगों में से भी कुछ लोग अंशुल के समर्थन में नारे लगाने लगे और जब पुलिस अंशुल को नीचे उतारकर थाने की ओर ले जाने लगी तब भी रास्ते में 'जय श्रीराम' के नारे लगते रहे. दूसरी तरफ पुलिस इस मामले को अलग तरीके से देख रही है.

माणक चौक के SP बृजेंद्र सिंह ने बताया अंशुल दाधीच ब्रहमपुरी का रहने वाला है और उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. कुछ लोग यहां पर आकर माहौल को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे थे और राजसमंद प्रकरण से पूरे मामले को जोड़ रहे थे. पुलिस अंशुल भारद्वाज की मानसिक स्थिति की भी जांच करा रही है साथ ही यह भी जानने की कोशिश कर रही है कि कहीं किसी ने इस तरह का काम करने के लिए उसको उकसाया तो नहीं था.

सुभाष चौक पुलिस थाना SHO राजेन्द्र सिंह शेखावत ने बताया, "जब हम मौके पर पहुंचे, हमने उससे नीचे आने के लिए आश्वस्त किया और जब वह नीचे आया, हमने उससे पूछा कि वह पानी की टंकी के ऊपर क्यों चढ़ा था. उसने कहा कि उसका एक पारिवारिक मुद्दे पर आत्महत्या करने का मन किया."

शेखावत ने कहा कि वह एसएमएस अस्पताल में संविदात्मक कर्मचारी के तौर पर काम करता है. यह पूछे जाने पर कि अस्पताल के भौतिक चिकित्सा विभाग में काम करने वाला व्यक्ति मानसिक रूप से अस्थिर कैसे हो सकता है? उन्होंने कहा कि कि आरोपी ने खुद कहा है कि वह मानसिक समस्या से पीड़ित है. पानी की टंकी पर चढ़ते समय बनाया गया दाधीच का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें