scorecardresearch
 

जुर्मः स्टेशन के बाहर छह साल की मासूम से गैंगरेप

राजस्थान में सीकर रेलवे स्टेशन के बाहर दो वहशी दरिंदों ने एक 6 साल की मासूम बच्ची को अपनी हवस का शिकार बना लिया. बच्ची स्टेशन के बाहर अपनी मां के साथ सो रही थी. पीड़ित बच्ची के परिवार ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

मासूम बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है मासूम बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है

राजस्थान में सीकर रेलवे स्टेशन के बाहर दो वहशी दरिंदों ने एक 6 साल की मासूम बच्ची को अपनी हवस का शिकार बना लिया. बच्ची स्टेशन के बाहर अपनी मां के साथ सो रही थी. पीड़ित बच्ची के परिवार ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

घटना गुरुवार देर रात की है. झुंझुनूं जिले की उदयपुरवाटी इलाके में रहने वाला एक परिवार जीणमाता के दर्शन करके वापस जाने के लिए सीकर पंहुचा लेकिन बस नहीं मिली. रात बहुत हो चुकी थी. इसलिए परिवार अपनी छह साल की बेटी के साथ रेलवे स्टेशन के बाहर फुटपाथ पर ही सो गया.

इसी दौरान दो लोग वहां पहुंचे और मां के साथ सो रही छह साल की मासूम बच्ची को उठाकर ले गये. उन्होंने बारी बारी से मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया. और बाद में खून से लथपथ बच्ची को पास ही में कचरे के ढेर में फेंककर फरार हो गए.

रात को जब महिला की नींद खुली तो बच्ची पास में नहीं थी. पूरा परिवार बेटी को ढुंढने लगा. शुक्रवार की सुबह किसी ने बच्ची को लहुलुहान हालत में कचरे के ढेर में पडे हुए देखा. सूचना देने पर भी पुलिस देर से मौके पर पहुंची औप पीड़ित बच्ची को इलाज के लिए जयपुर के जेके लान अस्पताल में भर्ती करवाया.

पीडिता बच्ची की मां ने पुलिस पर अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने में लापरवाही का आरोप लगाया है. हालांकि पुलिस ने पीडिता की मां के कहने पर राम सिंह और बाबू लाल नाम के दो लोगों के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस अब मामले की जांच कर रही है.

पुलिस के एक आला अधिकारी ने बताया कि पीडिता की मां ने स्थानीय पुलिस पर रिपोर्ट दर्ज नहीं करने के आरोप लगाए हैं. इस शिकायत की जांच करवायी जायेगी और दोषी पाये जाने पर संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी.

उधर, जयपुर के जेके लान अस्पताल के वरिष्ठ चकित्सक डा अशोक गुप्ता के अनुसार पीडिता की हालत गंभीर है. हालांकि हृदय सामान्य काम कर रहा है. सर्जन ने पीडिता की जांच की है संभवत: बच्ची का आपरेशन किया जायेगा.

-इनपुट भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें