scorecardresearch
 

आसाराम को लाया गया दिल्ली, गुपचुप तरीके से एम्स लेकर गई पुलिस

नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोपी आसाराम को रविवार शाम दिल्ली लाया गया. समर्थकों की भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस आसाराम को गुपचुप तरीके से लेकर एम्स के लिए रवाना हो गई. आसाराम को हेल्थ चेकअप के बाद अगले आदेश तक तिहाड़ जेल में ही रखा जाएगा.

आसाराम को लाया गया दिल्ली आसाराम को लाया गया दिल्ली

नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोपी आसाराम को रविवार शाम दिल्ली लाया गया. समर्थकों की भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस आसाराम को गुपचुप तरीके से लेकर एम्स के लिए रवाना हुई. आसाराम को हेल्थ चेकअप के बाद अगले आदेश तक तिहाड़ जेल में ही रखा जाएगा. आसाराम समर्थकों की भारी भीड़ को देखते हुए राजस्थान और दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए हैं.

नाबालिग छात्रा से बलात्कार के आरोपी आसाराम को रविवार शाम दिल्ली लाया गया. आसाराम को हेल्थ चेकअप के लिए एम्स ले जाया गया. समर्थकों की भारी भीड़ के चलते पुलिस गुपचुप तरीके से आसाराम को लेकर एम्स के लिए रवाना हो गई. बलात्कार के आरोपी आसाराम को अगले आदेश तक तिहाड़ जेल में ही रखा जाएगा. बता दें कि नाबालिग छात्रा से बलात्कार के आरोप में करीब 3 साल से आसाराम जेल में बंद हैं.

दुष्कर्म के आरोपी आसाराम को फ्लाइट से दिल्ली लाया गया. साथ ही पुलिस के कड़े पहरे में आसाराम को दिल्ली लाए जाने के पूरे पुख्ता इंतजाम किए गए थे. सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर राजस्थान पुलिस की एक टीम पहले से ही दिल्ली पहुंच गई थी. विमान कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक, आसाराम के भक्तों ने महज उन्हें देखने के लिए उसी फ्लाइट के सभी टिकट बुक करवाए थे.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम की याचिका पर उनके एम्स में हेल्थ चेकअप के आदेश दिए हैं. साथ ही आसाराम के फ्लाइट में आने-जाने की मांग को भी कोर्ट ने मंजूर कर लिया था. गौरतलब है कि आसाराम के वकील कोर्ट में इससे पहले कई बार आसाराम की खराब सेहत और बढ़ती उम्र का हवाला देकर जमानत की याचिका दे चुके हैं.

वहीं कोर्ट ने आसाराम पर लगे संगीन आरोपों को देखते हुए हर बार उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी हैं. आसाराम के वकील कई बार सुप्रीम कोर्ट का भी दरवाजा खटखटा चुके हैं, मगर वहां से भी उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा हैं. बताते चलें कि इससे पहले भी आसाराम को जांच के लिए दिल्ली एम्स लाया गया था. तब उन्हें ट्रेन के जरिए दिल्ली लाया गया था.

उस दौरान दिल्ली कैंट स्टेशन पर भारी भीड़ की वजह से पुलिस को आसाराम के भक्तों को हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी थी. जुलाई में आसाराम के वकीलों ने उन्हें त्रिनाडी शूल बीमारी होने का हवाला देते हुए कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल की थी, जिसका इलाज वकीलों ने केरल में होने की बात कही थी. मगर कोर्ट ने उसे खारिज कर दिया था.

गौरतलब है कि यूपी के शाहजहांपुर की रहने वाली 16 वर्षीय नाबालिग छात्रा ने आसाराम पर बलात्कार का आरोप लगाया था. पीड़िता के अनुसार जोधपुर स्थित मनाई गांव आश्रम में आसाराम ने उसके साथ दुष्कर्म किया था. साथ ही आसाराम ने उसे मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी. लड़की की शिकायत के बाद जोधपुर पुलिस ने आसाराम को 31 अगस्त 2013 को गिरफ्तार कर लिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें