scorecardresearch
 

पीएम मोदी की भतीजी से लूटपाट, स्कूटी सवार बदमाशों की तस्वीर आई सामने

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता अनिल मित्तल के मुताबिक घटना गुजराती समाज भवन के सीसीटीवी में कैद हुई है. साथ ही पुलिस का दावा है कि वह आरोपियों के काफी करीब पहुंच चुकी है और कभी भी उनकी गिरफ्तारी हो सकती है.

सीसीटीवी फुटेज से ली गई फोटो सीसीटीवी फुटेज से ली गई फोटो

  • पुलिस का दावा- आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द
  • सीसीटीवी फुटेज के आधार पर तलाश जारी
  • दमयंती मोदी का पर्स छीनकर भागे थे बदमाश

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती मोदी के साथ सिविल लाइंस थाना इलाके में शनिवार को हुई लूटपाट की घटना के सीसीटीवी फुटेज में पुलिस के हाथ लग गई है. दिल्ली पुलिस को उम्मीद है कि सीसीटीवी फुटेज से वारदात को सुलझाने में मदद मिलेगी.

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता अनिल मित्तल के मुताबिक घटना गुजराती समाज भवन के सीसीटीवी में कैद हुई है. साथ ही पुलिस का दावा है कि वह आरोपियों के काफी करीब पहुंच चुकी है और कभी भी उनकी गिरफ्तारी हो सकती है. फुटेज के आधार पर पुलिस बदमाशों की तलाश में जुट गई है और स्कूटी के जरिए भी उनकी तलाश की जा रही है.

ऐसे हुई लूटपाट

अमृतसर से आज ही दिल्ली पहुंची पीएम मोदी की भतीजी दमयंती बेन मोदी के साथ सिविल लाइंस इलाके में बने गुजराती समाज भवन के पास झपटमारी की गई. यहां ऑटो से उतरते ही स्कूटी सवार दो युवक उनके हाथ से पर्स छीनकर फरार हो गए. दमयंती जब तक कुछ समझ पातीं और शोर मचातीं, तब तक दोनों गायब हो चुके थे. बताया जा रहा है कि दमयंती के पर्स में 56 हजार रुपये और जरूरी कागजात थे.

दिल्ली का सिविल लाइंस राजधानी के वीवीआईपी इलाकों में से एक है. वारदात की घटना से कुछ ही दूर पर दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर का घर है. दिल्ली के मुख्यमंत्री का आवास भी महज थोड़ी दूरी पर ही है. ऐसे में दिन के उजाले में किसी महिला के साथ ऐसी वारदात पुलिस के इंतजामों की पोल खोलने के लिए काफी हैं.

वारदात पर सियासी रंग

पीएम मोदी के भतीजी के साथ लूटपाट की इस घटना पर सियासत भी शुरू हो गई है. दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने वारदात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राजधानी में लगातार लूट और स्नेचिंग की घटनाएं हो रही हैं और हम लगातार कहते आ रहे हैं कि इसके लिए 90 फीसदी अवैध घुसपैठिए जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री उन्हें अपना भाई बताकर पहले पूर्वांचलियों को दिल्ली से भगाने की बात करते हैं. तिवारी ने कहा कि ऐसा कहकर मुख्यमंत्री ऐसे घुसपैठियों को संरक्षण देने का काम कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें