scorecardresearch
 

नोएडा: बच्चा चोरी की फैलाता था अफवाह, पुलिस ने ऐसे धर दबोचा

सुशील ने गांव वालों से ये भी झूठ बोला कि उसने कार सवार बच्चा चोर गैंग के लोगों को रोकने की कोशिश की तो उन्होंने उस पर गोलियां चला दी और फरार हो गए.

आरोपी युवक (फोटो-अरविंद ओझा) आरोपी युवक (फोटो-अरविंद ओझा)

देश भर में लगातार बच्चा चोरी की अफवाहें फैलती जा रही हैं. इन अफवाहों से कई लोगों को अपनी जान तक गंवानी पड़ी है. उत्तर प्रदेश के नोएडा में पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है जो बच्चा चोरी की अफवाह फैलाता था. आरोपी युवक का नाम सुशील है और नोएडा पुलिस ने उसको ग्रेटर नोएडा से गिरफ्तार किया है. 

ग्रेटर नोएडा के नगली वाजिदपुर गांव में आरोपी ने लोगों के बीच अफवाह फैला दी कि एक सफेद रंग की स्विफ्ट कार में सवार बच्चा चोर गैंग ने गांव के ही 3 बच्चों का अपहरण कर लिया. साथ ही सुशील ने गांव वालों से ये भी झूठ बोला कि उसने कार सवार बच्चा चोर गैंग के लोगों को रोकने की कोशिश की तो उन्होंने उस पर गोलियां चला दी और फरार हो गए.  सुशील ने यूपी डायल 100 पर भी कॉल कर बच्चा चोरी की झूठी शिकायत दर्ज करा दी.

हालांकि पुलिस जब मौके पर पहुंची और मामले की तफ्तीश शुरू की तो बात कुछ और ही निकली. जिन बच्चों के चोरी होने की अफवाह फैलाई गई थी, उनके घर जब पुलिस पहुंची तो वे अपने घर पर ही मिले और परिवार वालों ने अपहरण की किसी भी घटना से साफ इनकार किया. लिहाजा नोएडा पुलिस ने झूठी अफवाह फैलाकर लोगों को जान-माल का नुकसान पहुंचाने के जुर्म में धारा 274/2019, धारा 116/193/200  के तहत एफआईआर दर्ज कर आरोपी को  गिरफ्तार कर लिया.

अभी कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश पुलिस प्रशासन ने एडवाइजरी जारी कर नागरिकों से अपील की है कि जब भी अपको कभी बच्चा चोरी की सूचना मिले या 'बच्चा चोर' का शोर सुनाई पड़े तो तुरंत 100 नंबर डायल करके पुलिस को सूचना दें. पुलिस प्रशासन ने बताया कि ज्यादातर बच्चा चोरी की शिकायतों की जब जांच पड़ताल की जाती है तो वह केवल अफवाह ही साबित होती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें