scorecardresearch
 

US के लोगों से टैक्स बचाने के नाम पर करते थे ठगी, 29 ग‍िरफ्तार

नोएडा पुलिस व साइबर क्राइम की संयुक्त टीम को हाथ लगी बड़ी कामयाबी. लाखों की ठगी करने वाले दर्जनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश क‍िया.

पुल‍िस ग‍िरफ्त में आरोपी (Photo: aajtak) पुल‍िस ग‍िरफ्त में आरोपी (Photo: aajtak)

नोएडा पुलिस और साइबर क्राइम की संयुक्त टीम ने अमेरिकी मूल  के नागरिकों का अवैध रूप से डाटा चुराकर लाखों की ठगी करने वाले फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा करते हुए 31 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है. ये आरोपी अमेरिकन मूल के लोगों को कॉल करते और टैक्स में छूट का झांसा देकर उनका एटीएम नंबर हासिल कर उनके अकाउंट से पैसे उड़ा लेते थे.

पुलिस की गिरफ्त में आए अपराधी बड़े ही शातिर किस्म के फ्रॉड किस्म के अपराधी हैं. पुलिस ने इस गिरोह के मास्टरमाइंड राजेन्द्र और अभिषेक निवासी गुजरात सहित 29 लोगों को गिरफ्तार किया है. ये गिरोह पिछले 3 महीने से नोएडा के जी-80 सेक्टर 63 में फर्जी कॉल सेंटर चलाकर अमेरिकन मूल के नागरिकों का डाटा चुराकर उनको  कॉल करते और टैक्स के नाम पर अपने अकाउंट में या उनका एटीएम कार्ड का नंबर लेकर उनके अकाउंट से पैसे उड़ा लेते थे.

गिरोह के दो मास्टरमाइंड सहित 29 लोगों की ग‍िरफ्तारी

वहीं,  पुलिस व साइबर क्राइम के आलाधिकारियों की मानें तो नोएडा थाना फेज 3 व साइबर क्राइम की टीम ने मुखबिर की सूचना पर नोएडा के जी-80 सेक्टर 63 में फर्जी कॉल सेंटर चलाया जा रहा था.  गुरुवार को सुबह दबिश देकर इस गिरोह के दो मास्टरमाइंड सहित 29 लोगों  को गिरफ्तार कर लिया।

भारी मात्रा में फर्जी कागजात बरामद किए

पूछताछ में कॉल सेंटर चलाने वाले अभियुक्तों ने कबूला कि वो इससे पहले अहमदाबाद में इसी तरह का काम करते थे. लेकिन आस-पास के लोगों को इसकी जानकारी होने के बाद ये दिल्ली आ गए और यहां किराए का मकान लेकर नोएडा में ये कॉल सेंटर चलाने लगे.  हर रोज ये लोगों से लाखों की ठगी करते थे. पुलिस ने इनके कब्जे से 34 कंप्यूटर,  21 एटीएम कार्ड, 4 चेक बुक सहित भारी मात्रा में फर्जी कागजात बरामद किए. फ़िलहाल पुलिस ने सभी आरोपियों  के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर सभी को जेल भेज दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें