scorecardresearch
 

तीन साल पहले गायब हुई बच्ची, फिरौती की रकम के लिए अब आया कॉल

पिता संजय ने बताया कि, 'कॉलर कहता है कि मेरी बेटी उसके साथ पंजाब में है. उसने कहा है कि अगर मैं अपनी बेटी को जिंदा देखना चाहते हो तो 10 लाख रुपये दे दो. मैंने उससे मेरी बेटी की तस्वीर मांगी, लेकिन उसने फोटो भेजने से इनकार कर दिया.'

4 साल पहले लापता हुई थी कशिश (फोटो-पुनीत शर्मा ) 4 साल पहले लापता हुई थी कशिश (फोटो-पुनीत शर्मा )

नोएडा में किडनैपिंग से जुड़ा एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. 4 साल की बच्ची के गायब होने के तीन साल बाद फिरौती की रकम के लिए उसके मां-बाप के पास फोन कॉल आया है. ये मामला नोएडा के सेक्टर-22 का है, जहां आज से करीब तीन साल पहले 2016 में संजय की बेटी कशिश घर के बाहर खेलते हुए रहस्यमय ढंग से गायब हो गई थी. उस वक्त बेटी की गुमशुदगी को लेकर उसके परिजनों ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए प्रदर्शन भी किया था.

तीन साल पहले गायब हुई थी 4 वर्षीय कशिश

परिवार का कहना है कि उनकी 4 साल की बेटी तीन साल पहले गुम हुई थी. अब कोई फोन करके उनसे फिरौती के 10 लाख रुपये मांग रहा है. फोन कॉल आने के बाद कशिश नाम की उस बच्ची के पिता संजय रावत ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है.

8-10 जुलाई के बीच आया फिरौती का कॉल

लापता बच्ची कशिश के पिता संजय का दावा है कि उनके पास 8 से 10 जुलाई के बीच फिरौती के लिए करीब 10 फोन कॉल्स आ चुके हैं. संजय के मुताबिक, सभी कॉल अलग-अलग नंबर से आते हैं. पिता संजय ने बताया कि, 'कॉलर कहता है कि मेरी बेटी उसके साथ पंजाब में है. उसने कहा है कि अगर मैं अपनी बेटी को जिंदा देखना चाहते हो तो 10 लाख रुपये दे दो. मैंने उससे मेरी बेटी की तस्वीर मांगी, लेकिन उसने फोटो भेजने से इनकार कर दिया.'

पिता ने पुलिस में शिकायत कराई दर्ज

फिरौती का कॉल आने के बाद संजय ने सेक्टर 24 में शिकायत दर्ज करवाई है. पुलिस ने FIR दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. वहीं, पुलिस को जिन अलग-अलग नंबर से फोन आया, उनकी भी पड़ताल कर रही है. एसएसपी वैभव कृष्ण की मानें तो, कॉलर खुद को पंजाब का बता रहा है, जबकि जिन नंबर्स से फोन आया, वो तेलंगाना और पश्चिम बंगाल के हैं. पुलिस को शक है कि कहीं कोई संजय को बेटी के नाम पर ठगने की कोशिश तो नहीं कर रहा.

2016 को हुई थी लापता

आपको बता दें कि कशिश 2016 में लापता हुई थी. 12 मई को कशिश के पिता संजय ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उनकी बेटी कशिश नोएडा के सेक्टर-22 में उनके घर के आगे से ही खेलने के दौरान लापता हो गई थी. उस वक्त पुलिस ने नोएडा, गाजियाबाद, दिल्ली, बुलंदशहर, हापुड़, मेरठ आदि में छानबीन की थी, लेकिन उसका कोई पता नहीं चल सका. अब अचानक तीन साल बाद फिरौती के लिए कॉल आने से पुलिस भी हैरान है, लेकिन एसएसपी वैभव कृष्ण का दावा है जल्द ही पूरे मामले का सुलझा लिया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें