scorecardresearch
 

NIT विवाद: छात्राओं ने वीडियो जारी कर लगाई इंसाफ की गुहार

जम्मू और कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के एनआईटी कैंपस में देशभक्ति पर चल रहे विवाद में पांच छात्राओं ने वीडियो जारी कर इंसाफ की गुहार लगाई है. छात्राओं ने एनआईटी प्रशासन पर आरोप लगाया कि हालात तो जानबूझ कर सामान्य बताया जा रहा है. लेकिन कैंपस में माहौल काफी बिगड़ा हुआ है. सिर्फ 10 फीसदी छात्र ही क्लास में जा रहे हैं. जबकी बाकी छात्र क्लास नहीं जा रहे हैं. वहां अभी भी गैर-कश्मीरी छात्रों में डर का माहौल है.

पांच छात्राओं ने जारी किया वीडियो पांच छात्राओं ने जारी किया वीडियो

जम्मू और कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के एनआईटी कैंपस में देशभक्ति पर चल रहे विवाद में पांच छात्राओं ने वीडियो जारी कर इंसाफ की गुहार लगाई है. छात्राओं ने एनआईटी प्रशासन पर आरोप लगाया कि हालात तो जानबूझ कर सामान्य बताया जा रहा है. लेकिन कैंपस में माहौल काफी बिगड़ा हुआ है. सिर्फ 10 फीसदी छात्र ही क्लास में जा रहे हैं. जबकी बाकी छात्र क्लास नहीं जा रहे हैं. वहां अभी भी गैर-कश्मीरी छात्रों में डर का माहौल है.



छात्राओं का कहना है कि एनआईटी प्रशासन जानबूझ कर रियल इश्यू को दबा रहा है. कैंपस में हालात तनावपूर्ण हैं. टी-20 मैच के फाइनल में भारत की हार के बाद कैंपस में जो हालात बने बेहद ही डराने वाले हैं. अब तो धमकियां भी मिल रही है. लड़कियों के साथ रेप तक की धमकी दी जा रही है. छात्राएं डर के साए में हैं. खुलकर बोल नहीं पा रही. अपनी बात रख नहीं पा रही. उन्हें पता नहीं है कि आगे क्या होगा और वो कैसे अपना कोर्स पूरा कर पाएंगे.

एनआईटी में कश्मीर से बाहर के राज्यों से यहां पढ़ने आए छात्रों ने अपनी मांगें उठाते हुए परिसर में मार्च निकाला. उनकी मांगों में संस्थान को कश्मीर से बाहर स्थानांतरित करने की मांग भी शामिल है. छात्रों के एक समूह ने मुख्य द्वार तक जाने की कोशिश की, लेकिन ड्यूटी पर तैनात सुरक्षाबल के जवानों ने उन्हें रोक दिया. छात्र हजरतबल स्थित इस संस्थान के मुख्यद्वार के बाहर मौजूद मीडियाकर्मियों के साथ बात करना चाहते थे. बाद में वे परिसर के अंदर वापस चले गए.

एनआईटी श्रीनगर के छात्र मुसीबत में फंस गए हैं. पहले तो तिरंगा लहराने के बदले उन्हें पुलिस की लाठियां मिलीं. अब स्थानीय छात्र उन्हें धमकियां दे रहे हैं. उधर पुलिस ने एक वीडियो जारी कर कहा है कि छात्रों के पथराव करने के बाद लाठी चार्ज किया गया. फिलहाल पुलिस ने 20 छात्रों की पहचान की है. उन पर संगीन धाराओं में केस दर्ज कर लिया है. आरोपी छात्रों पर दंगा करने का आरोप लगाया गया है.

पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 148, 149, 188, 336, 427, 353, 188 के तहत एफआईआर दर्ज किया है, जो दंगा करने, सार्वजनिक संपत्ति‍ को नुकसान पहुंचाने और जीवन के लिए खतरा पैदा करने के तहत आते हैं. छात्रों के अलावा कुछ फैकल्टी मेंबर्स की भी पहचान की है, जो जांच के दायरे में हैं. पुलिस के पास मौजूद वीडियो में छात्र पत्थरबाजी करते हुए, गाड़ि‍यों को क्षतिग्रस्त करते और कैंपस की संपत्ति‍ से तोड़फोड़ करते नजर आ रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें