scorecardresearch
 

निर्भया की मां बोलीं- जब 7 साल लड़ाई लड़ी, तो एक हफ्ते और कर सकते हैं इंतजार

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट से बाहर निकलने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि उनको कोर्ट पर भरोसा है और पिछले 7 साल से वो बहुत धैर्य से इंसाफ का इंतजार कर रही हैं. कोर्ट ने दोबारा 18 दिसंबर को बुलाया है. वो एक हफ्ते और इंतजार कर लेंगी.

निर्भया की मां आशा देवी (Courtesy- ANI) निर्भया की मां आशा देवी (Courtesy- ANI)

  • दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में अब 18 दिसंबर को होगी सुनवाई
  • निर्भया के दोषी अक्षय ने SC में दाखिल की है पुनर्विचार याचिका

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में शुक्रवार सुबह 10 बजे निर्भया मामले की सुनवाई थी, लेकिन निर्भया की मांग आशा देवी सुबह 9:30 बजे ही पहुंच गई थी. ये उस मां की छटपटाहट थी, जो पिछले 7 साल से न्याय के इंतजार में निचली अदालत से सर्वोच्च अदालत तक का दरवाजा खटखटा चुकी है. यह मां इंतजार कर रही है कि 7 साल होने के बाद ही सही लेकिन उनकी बेटी निर्भया को इंसाफ मिले और दोषियों को जल्द से जल्द फांसी पर लटकाया जाए.

पटियाला हाउस कोर्ट ने जब इस मामले में सुनवाई की और उसके बाद 18 दिसंबर की तारीख मुकर्रर कर दी, तो भी निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, ‘मुझे कोर्ट पर भरोसा है और पिछले 7 साल से मैं बहुत धैर्य से इंसाफ का इंतजार कर रही हूं. कोर्ट ने दोबारा 18 दिसंबर को बुलाया है. मैं एक हफ्ते और इंतजार कर लूंगी.’

आजतक से बातचीत में निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि उन्होंने 7 साल से भले ही धैर्य से संघर्ष किया है, लेकिन उनका संघर्ष तभी खत्म होगा, जब चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने का डेथ वारंट उनके हाथ में होगा. जब आशा देवी से पूछा गया कि इस मामले की पिछली सुनवाई के दौरान आपकी आंखों में आंसू थे, लेकिन आज आप संतुष्ट है, तो उन्होंने कहा, ‘मुझको उम्मीद है कि लगातार हो रही देरी अब खत्म होगी. मैं अब आश्वस्त हूं कि कोर्ट जल्द ही डेथ वारंट जारी करेगा. मुझे अब तसल्ली है और उम्मीद जगी है कि मेरी बेटी निर्भया को जल्द ही इंसाफ मिलेगा.’

निर्भया की मां आशा देवी ने बताया कि निर्भया के दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर उनकी तरफ से भी हस्तक्षेप अर्जी लगाई गई है, जिस पर 17 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा. उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट निर्भया के दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका को जल्द खारिज करेगा. 17 तारीख को सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई में अगर अक्षय की पुनर्विचार याचिका खारिज होती है, तो 18 दिसंबर को पटियाला हाउस कोर्ट इस मामले में डेथ वारंट जारी कर सकता है.’

आपको बता दें कि पटियाला हाउस कोर्ट में निर्भया के चारों दोषियों को फांसी में लटकाने की मामले की सुनवाई चल रही है. दिल्ली की तिहाड़ जेल में चारों दोषियों को फांसी देने की तैयारी भी तेज हो गई है. वहीं, निर्भया के दोषी अक्षय ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका लगाई है, जिस पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा है. अगर सुप्रीम कोर्ट निर्भया के दोषी अक्षय की याचिका खारिज होती है, तो चारों दोषियों को जल्द फांसी पर लटका दिया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें