scorecardresearch
 

पुलिस कस्टडी में कुख्यात नक्सली ने लगाई फांसी

पुलिस को कवासी सोमा का शव बाथरूम की छत पर रस्सी पर झूलता दिखा. मौके पर मौजूद पुलिस के जवानों ने तुरंत उसे उतारा और अस्पताल ले गए.

गिरफ्तार नक्सली के साथ पुलिस अधिकारी गिरफ्तार नक्सली के साथ पुलिस अधिकारी

छत्तीसगढ़ के एक कुख्यात नक्सली ने ओडिशा पुलिस की कस्टडी में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. ओडिशा पुलिस ने मृतक कवासी सोमा नाम के इस नक्सली को उसके दर्जन भर साथियों के साथ गिरफ्तार किया था. इनकी गिरफ्तारी ओडिशा के मलकानगिरी के माथली इलाके से हुई थी.

बताया जा रहा है कि बुधवार दोपहर ओडिशा पुलिस गिरफ्तार नक्सलियों को पूछताछ के लिए मलकानगिरी SP के दफ्तर में लेकर आई थी. पुलिस सभी को अदालत में पेश करने की तैयारी में थी. इसी दौरान नक्सली कवासी सोमा एसपी दफ्तर के टॉयलेट में गया. काफी देर बाद भी जब वह बाहर नहीं आया तो पुलिस के जवानों ने टॉयलेट का रुख किया. 

जहां पुलिस को कवासी सोमा का शव बाथरूम की छत पर रस्सी पर झूलता दिखा. मौके पर मौजूद पुलिस के जवानों ने तुरंत उसे उतारा और अस्पताल ले गए. जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. मलकानगिरी के एसपी जगमोहन मीना ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि कवासी सोमा को फौरन अस्पताल भेजा गया जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया.

दरअसल, दो दिन पहले एक ज्वाइंट ऑपरेशन में सुरक्षाबलों ने मलकानगिरी के कालीमेला, चित्रकोंडा और माथली के जंगलों में कार्रवाई की थी. इस कार्रवाई में कवासी सोमा अपने दर्जन भर साथियों के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ा था.

कवासी सोमा छत्तीसगढ़ के कोंटा इलाके का रहने वाला था. सुकमा और दंतेवाड़ा में कवासी सोमा ने नक्सलियों के सदस्य के रूप में काम शुरू किया था. इसके बाद उसने अपने दायरे को उड़ीसा के मलकानगिरी जिले तक फैला लिया था. वो नक्सलियों और गांव वालों के बीच नक्सलवाद के समर्थन में मुद्दों का चयन करने और उन्हें सुलझाने का काम करता था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें