scorecardresearch
 

भोपाल में निर्भयाकांडः UPSC की छात्रा से गैंगरेप, पिता ने पकड़े आरोपी

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में निर्भयाकांड जैसा एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जहां हबीबगंज इलाके में यूपीएससी की कोचिंग कर रही एक 19 वर्षीय छात्रा के साथ 4 लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया. छात्रा के साथ आरोपियों ने इस कदर हैवानियत दिखाई कि वो कई घंटों तक झाड़ियों में बेहोश पड़ी रही.

इस घटना में एपी पुलिस की लापरवाही भी उजागर की है इस घटना में एपी पुलिस की लापरवाही भी उजागर की है

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में निर्भयाकांड जैसा एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जहां हबीबगंज इलाके में यूपीएससी की कोचिंग कर रही एक 19 वर्षीय छात्रा के साथ 4 लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया. छात्रा के साथ आरोपियों ने इस कदर हैवानियत दिखाई कि वो कई घंटों तक झाड़ियों में बेहोश पड़ी रही.

पीड़ित छात्रा विदिशा की रहने वाली है. वह भोपाल के एमपी नगर जोन 2 में स्थित एक संस्थान से यूपीएससी की कोचिंग ले रही है. जानकारी के मुताबिक 31 अक्टूबर की शाम वह कोचिंग से हबीबगंज स्टेशन की तरफ पैदल जा रही थी. तभी कुछ बदमाशों ने उसका रास्ता रोक लिया और उसका मुंह दबाकर उसे एक छोटी पुलिया के नीचे झाड़ियों में ले गए.

वहां आरोपियों ने लड़की को पहले जमकर पीटा और फिर उसके हाथ पैर बांधकर तीन घंटे तक हवस का खेल खेलते रहे. पीड़ित लड़की ने पुलिस को बताया कि जब वह उनकी ज्यादती से बेहोश हो गई तो आरोपी चाय पीने और गुटखा खाने के लिए गए. इसके बाद वे अपने दो साथियों के साथ वापस आए. उन दो लोगों ने भी लड़की के साथ रेप किया.

पीड़िता ने बताया कि घटना के दौरान जब वह मदद के लिए चीखी तो आरोपियों ने उसका मुंह दबा दिया. बाद में आरोपी उसका फोन, पर्स और अंगूठियां लूटकर फरार हो गए. उन्होंने लड़की को जमकर पीटा और उसके हाथ पैर बांधकर उसे झाड़ियों में फेंक दिया. वह कई घंटे तक झाड़ियों में पड़ी रही.

वारदात के बाद जब छात्रा को होश आया तो वह किसी तरह से हबीबगंज आरपीएफ थाने पहुंची. पिता को फोन कर पूरी घटना बताई. इसके बावजूद पुलिस ने घटना को गंभीरता से ना लेते हुए मामला दर्ज नहीं किया. हैरानी की बात ये है कि घटना के बाद छात्रा ने करीब तीन पुलिस स्टेशनों के चक्कर काटे, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई.

इसके बाद मंगलवार को छात्रा अपने माता-पिता के साथ घटनास्थल के पास पहुंची. जहां पीड़िता के पिता ने दो आरोपियों को फ़िल्मी स्टाइल में पकड़ लिया. तब जाकर पुलिस ने मामला दर्ज दिया. सबसे अहम बात ये है कि पीड़िता के पिता खुद सब इंस्पेक्टर हैं और उसकी मां सीआईडी में तैनात है.

दो आरोपियों के पकड़े जाने के बाद पुलिस हरकत में आई और मामला दर्ज करने के बाद आरोपी गोलू बिहारी चडहर और अमर घुनटू को गिरफ्तार किया. अब पुलिस अन्य दो आरोपियों की तलाश में जुटी है. पुलिस ने पीड़िता के साथ-साथ आरोपियों का मेडिकल भी कराया है.

इस गैंगरेप की खबर सुर्खियों में आने के बाद छह पुलिस वालों पर गाज गिरी है. सरकार ने तीन टीआई और दो एसआई को निलंबित कर दिया है. जबकि एक सीएसपी को हटाया गया है. यहां तक कि इस मामले पर राज्य के मुख्यमंत्री ने भी नाराजगी जताई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें