scorecardresearch
 

भोपाल: रात में नशे में घूम रही थीं नाबालिग लड़कियां, पूछताछ में बड़ा खुलासा

पूछताछ में नाबालिग लड़कियों ने बताया कि उन्हें पहले भी कई बार पार्टियों के बहाने इसी फ्लैट में बुलाया जाता रहा है जहां उनका यौन शोषण किया गया. लड़कियों ने बताया कि पार्टी के बहाने कई बार उनके साथ दुष्कर्म किया गया और बदले में कई बार रुपये भी दिए गए.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

  • नशे में नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण
  • स्थानीय पत्रकार प्यारे मियां पर लगा आरोप

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शनिवार-रविवार की दरमियानी रात पुलिस को नशे की हालत में घूम रही 5 नाबालिग लड़कियां मिली थीं जिन्हें चाइल्ड लाइन भेजा गया था. पूछताछ में लड़कियों ने यौन शोषण के एक ऐसे मामले का खुलासा किया है जिसके बारे मे सुनकर हर कोई हैरान है.

भोपाल पुलिस ने रविवार शाम आधिकारिक प्रेस नोट जारी कर इस बात की जानकारी दी कि रविवार तड़के 3 बजे रातीबड़ थाना क्षेत्र में 5 नाबालिग लड़कियां घूम रही थीं. रात्रि गश्त में तैनात पुलिसकर्मियों ने जब लड़कियों से जानकारी लेनी चाही तो नशे में धुत्त लड़कियां कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थीं. इसे देखते हुए उन्हें चाइल्ड लाइन भेज दिया गया. रविवार को चाइल्ड लाइन में जब लड़कियों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि वे शाहपुरा इलाके के एक फ्लैट में बर्थडे पार्टी में गई थीं जहां एक नाबालिग लड़की का प्यारे मियां नाम के एक शख्स ने यौन शोषण किया है.

पूछताछ में नाबालिग लड़कियों ने बताया कि उन्हें पहले भी कई बार पार्टियों के बहाने इसी फ्लैट में बुलाया जाता रहा है जहां प्यारे मियां ने उनका भी यौन शोषण किया है. लड़कियों ने बताया कि पार्टी के बहाने कई बार उनके साथ दुष्कर्म किया गया और बदले में कई बार रुपये भी दिए गए. नाबालिग लड़कियों ने पूछताछ में बताया कि इस पूरे काम में प्यारे मियां का साथ एक स्वीटी विश्वकर्मा नाम की महिला देती थी. बताया जा रहा है कि प्यारे मियां नाम का आरोपी भोपाल का स्थानीय पत्रकार है.

नाबालिग लड़कियों के बयान के आधार पर रातीबड़ थाने में प्यारे मियां और स्वीटी विश्वकर्मा के खिलाफ धारा 366 (ए), 376(2), 120(बी) और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. मामले में एक आरोपी स्वीटी शर्मा को हिरासत में ले लिया गया है और फरार आरोपी प्यारे मियां की तलाश की जा रही है. भोपाल डीआईजी इरशाद वली ने प्यारे मियां पर 10 हज़ार रुपये के इनाम की घोषणा कर दी है.

सीएम ने दिए मान्यता निरस्त करने के निर्देश

वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी प्यारे मियां को आवंटित दो सरकारी आवास खाली कराने और अधिमान्यता निरस्त करने के निर्देश दे दिए हैं. सीएम शिवराज ने कहा है कि प्यारे मियां पत्रकारिता के नाम पर गलत और अनैतिक कार्यो में संलिप्त था. ऐसे लोग पत्रकारिता को बदनाम करते है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें