scorecardresearch
 

लखनऊ: गिरफ्तार संदिग्ध आतंकियों की देर रात हुई पेशी, 10 दिन की रिमांड

यूपी ATS ने बड़ी कार्रवाई करते हुए देवबंद से 2 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था. दोनों ही संदिग्ध आतंकियों की शनिवार को लखनऊ के एटीएस कोर्ट में पेशी होनी थी, जिसका वकीलों ने विरोध किया. हालांकि, बाद में देर रात दोनों को कोर्ट ने 10 दिन की पुलिस रिमांड में भेजने का आदेश दिया.

X
शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद (फोटो-शिवेंद्र) शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद (फोटो-शिवेंद्र)

पुलवामा में आतंकी हमले के बाद उत्तर प्रदेश के एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए देवबंद से 2 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था. दोनों ही संदिग्ध आतंकियों को जब शनिवार को लखनऊ के एटीएस कोर्ट में पेशी के लिए ले जाया गया तो वकीलों के प्रदर्शन करते हुए उनका विरोध किया. पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी भी की गई. जिसके चलते देर रात दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 10 दिन की हिरासत में भेज दिया गया.

बता दें कि गुरुवार को यूपी एटीएस ने सहारनपुर के देवबंद से आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद  के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार किए गए आतंकियों का काम जैश-ए-मोहम्मद के लिए नए आतंकियों की भर्ती कराना था. गिरफ्तारी के बाद यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि उनके पास बड़ी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद की गई है.

14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के बाद से देशभर में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्से का माहौल है. लोग पाकिस्तान और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ जमकर प्रदर्शन कर रहे और सरकार से उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. बता दें कि जैश ने ही पुलवामा हमले की भी जिम्मेदारी ली है.

कई चीजें हुई थीं बरामद

दोनों संदिग्ध आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि देवबंद से 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए आतंकियों के नाम शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद हैं. ये दोनों ही बगैर एडमिशन के देवबंद में रह रहे थे. इनके पास से 0.32 बोर की गन और गोलियां मिली. साथ ही दोनों के पास से जिहादी ऑडियो, वीडियो और लिखित सामग्री भी बरामद हुई. डीजीपी ने बताया कि जैश आतंकी शाहनवाज अहमद तेली कश्मीर के कुलगाम का रहने वाला है जबकि आकिब अहमद पुलवामा का रहने वाला है.

डीजीपी के मुताबिक शाहनवाज लंबे समय से जैश के नेटवर्क के लिए भर्ती करने का काम कर रहा था. वह देवबंद में भी नई भर्ती के लिए कई लड़कों के संपर्क में था. इस बात की जांच की जा रही है कि इन लोगों ने अब तक कितने लोगों की भर्ती कराई है और उनका टॉरगेट क्या था.

लखनऊ में डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि शाहनवाज अहमद तेली ग्रेनेड इस्तेमाल में एक्सपर्ट है. वे कब से सहारनपुर में रह रहे हैं इसकी भी जांच की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें