scorecardresearch
 

Ankit Das: लखीमपुर खीरी हिंसा में क्यों हो रही है अंकित दास की तलाश, कौन है ये शख्स?

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में अब अंकित दास का नाम भी सामने आ रहा है. अंकित दास पूर्व कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश यादव का भतीजा है. बताया जा रहा है कि अंकित दास काफिले में शामिल था.

अंकित दास. अंकित दास.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लखीमपुर हिंसा में अंकित दास की तलाश
  • पूर्व कांग्रेस सांसद का भतीजा है अंकित दास

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर अब रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं. केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा के बाद एक और हाईप्रोफाइल शख्स है जिसकी तलाश की जा रही है. उस शख्स का नाम है अंकित दास.

अंकित दास केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा के साथ लखीमपुर खासतौर से निघासन इलाके में राजनीतिक तौर पर सक्रिय हैं. 3 अक्टूबर को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के आगमन पर लखीमपुर में जगह-जगह पोस्टर लगाए गए थे. इस पोस्टर में आशीष मिश्रा और अंकित दास की फोटो भी थी. 

रविवार को लखीमपुर के तिकुनिया में हुई हिंसा में अब तक तीन गाड़ियों के शामिल होने की बात सामने आ रही है. इनमें एक थार है और उसके पीछे फॉर्च्युनर और स्कॉर्पियो थी. सूत्रों का कहना है कि अंकित दास इसी फॉर्च्युनर गाड़ी में बैठा हुआ था.

इतना ही नहीं, इसके पीछे जो स्कॉर्पियो चल रही थी, वो भी अंकित दास की ही बताई जा रही है. इस मामले में पुलिस अंकित दास के दफ्तर में काम करने वाले एक लड़के से भी पूछताछ कर रही है. ये लड़का भी फॉर्च्युनर में बैठा था. 

बताया जा रहा है कि अंकित दास पूर्व कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के भतीजे हैं. अखिलेश दास 18 साल तक राज्यसभा के सांसद रहे थे. मनमोहन सरकार में अखिलेश दास इस्पात मंत्री बनाए गए थे. अप्रैल 2017 में हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई थी.

लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को हिंसा हुई थी. इसमें 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी. इस हिंसा में मुख्य तौर से केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा का नाम सामने आ रहा है. आशीष मिश्रा के खिलाफ हत्या का केस भी दर्ज किया गया है. मंगलवार को लखीमपुर हिंसा के कई वीडियो सामने आए थे. इनमें किसानों को रौंदने वाला भी एक वीडियो सामने आया था. इस वीडियो में दिख रहा था कि कैसे एक थार गाड़ी प्रदर्शन कर रहे किसानों को रौंदते हुए जा रही है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें