scorecardresearch
 

केरल गोल्ड स्मगलिंग केस: एनआईए ने स्वप्ना सुरेश और उसके साथी को हिरासत में लिया

केरल गोल्ड स्मगलिंग केस को हाथ में लेने के 24 घंटों के भीतर ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने आरोपी स्वप्ना सुरेश और उसके साथी का पता लगा लिया है.

ि ि

  • केरल गोल्ड स्मगलिंग केस में एनआईए का एक्शन
  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने दो लोगों को हिरासत में लिया

केरल गोल्ड स्मगलिंग केस में एनआईए को बड़ी सफलता हाथ लगी है. एनआईए ने आरोपी स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को केरल गोल्ड स्मगलिंग मामले में हिरासत में लिया गया है. एनआईए के मुताबिक उनकी जांच की जा रही है और नियत समय में उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: कौन है स्वप्ना सुरेश, जिसका नाम गोल्ड स्मगलिंग में आने से हिली केरल सरकार

केरल गोल्ड स्मगलिंग केस को हाथ में लेने के 24 घंटों के भीतर ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आरोपी स्वप्ना सुरेश और उसके साथी का पता लगा लिया है. एजेंसी के सूत्रों ने कहा कि आरोपी ने अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया था, जिसके चलते टीम ने बेंगलुरु में घेराबंदी की, जहां दोनों आरोपियों को हिरासत में लिया गया और बाद में पूछताछ की गई.

एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी को बेंगलुरु में बीटीएम लेआउट से हिरासत में लिया गया है. एनआईए ने अपने बयान में कहा है कि आरोपी स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर की जांच की जा रही है. साथ ही एनआईए का कहना है कि पूछताछ के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी भी हो सकती है.

क्या है मामला?

दरअसल, तिरुवनंतपुर में स्थित यूएई के वाणिज्य दूतावास में 30 किलो सोने का पैकेट आया था. इस पैकेट को कस्टम विभाग ने सीज कर लिया था. यूएई से भेजे गए इस पैकेट से दूतावास ने अपना पल्ला झाड़ लिया था. बाद में सोने की तस्करी के मामले में यूएई के वाणिज्य दूतावास के पूर्व पीआरओ सरित पीआर की गिरफ्तारी की गई थी.

यह भी पढ़ें: 12वीं फेल महिला ने खेला 30 किलो सोने का ऐसा खेल, उड़ गई 2 सरकारों की नींद

वहीं इस मामले में पुलिस को शक है कि सोने की तस्करी में यूएई वाणिज्य दूतावास की एक पूर्व कर्मचारी स्वप्ना सुरेश भी शामिल हो सकती है. दरअसल, पिछली बार स्वप्ना सुरेश ने यूएई से आए ऐसे ही पैकेट को अपना बताया था. इसके बाद अब स्वप्ना सुरेश को हिरासत में ले लिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें