scorecardresearch
 

कानपुर मुठभेड़: रेड की खबर के बाद विकास दुबे ने पुलिस को दी थी धमकी

कानपुर में दबिश की खबर मिलने पर विकास दुबे ने पुलिस टीम को धमकी भिजवाई थी. पुलिस ने धमकी को गंभीरता से नहीं लिया था. एसपी ग्रामीण और एसएसपी दोनों नए थे और एसओ को भी विकास के बारे में अंदाजा नहीं था.

विकास दुबे विकास दुबे

  • विकास दुबे ने पुलिस टीम को भिजवाई थी धमकी
  • एनकाउंटर के लिए भारी तादाद में नहीं गई थी फोर्स

उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस पार्टी पर हमला करने वाला गैंगस्टर विकास दुबे अभी फरार है. पुलिस विकास दुबे को पकड़ने के लिए कई जगह छापेमारी कर रही है. जानकारी के मुताबिक, कानपुर में दबिश की खबर मिलने पर विकास दुबे ने पुलिस टीम को धमकी भिजवाई थी. पुलिस ने धमकी को गंभीरता से नहीं लिया था. एसपी ग्रामीण और एसएसपी दोनों नए थे और एसओ को भी विकास के बारे में अंदाजा नहीं था.

दिल्ली में पहली बार कोरोना रिकवरी रेट 70% के पार, CM ने दी बधाई

ऐसे में मुठभेड़ के लिए भी कम पुलिस फोर्स गई थी. विकास दुबे ने अपनी धमकी में साफ कहा था कि अगर पुलिस उसे पकड़ने आती है तो वह बागी हो जाएगा, लेकिन पुलिस ने इस धमकी को गंभीरता से नहीं लिया.

इनोवा कार से फरार हुआ था विकास दुबे

यही कारण था कि मौके पर पहुंची पुलिस जेसीबी से रास्ता रोकने पर भी बदमाशों का इरादा नहीं भांप पाई थी. पुलिस घात लगाने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं थी. अचानक हुए हमले में पुलिस की टीम न मोर्चा ले पाई और न मानसिक रूप से तैयार थी. विकास दुबे ने गांव वालों से बोला था कि आज दुश्मन हमला करने आ सकते हैं.

कानपुर कांड के बाद जागी पुलिस, बनाई यूपी के 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट

गौरतलब है कि विकास दुबे के द्वारा किए गए हमले में यूपी पुलिस के 8 जवान शहीद हो गए थे. विकास दुबे अब भी पुलिस की पहुंच से बाहर है. प्रशासन ने शनिवार को विकास का कानपुर देहात स्थित घर गिरा दिया है. इसमें विकास की गाड़ियां और ट्रैक्टर भी तोड़ दिए गए हैं. घटना को अंजाम देने के बाद विकास दुबे इनोवा कार से फरार हो गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें