scorecardresearch
 

कानपुर मुठभेड़ः विकास दुबे पर 50 हजार का इनाम, मां बोली- बहुत गलत काम किया, मार दे पुलिस

पुलिस की टीम हत्या के प्रयास के केस में शातिर विकास दुबे को गिरफ्तार करने गई थी. पुलिस उसकी तलाश कर रही है, लेकिन अभी तक वह पहुंच से दूर है. कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने विकास दुबे के बारे में जानकारी देने वाले को 50 हजाररुपये देने के इनाम का ऐलान किया है.

विकास दुबे की मां सरला देवी (तस्वीर-ANI) विकास दुबे की मां सरला देवी (तस्वीर-ANI)

  • गिरफ्तार करने गई टीम पर हमला, 8 पुलिसकर्मी शहीद
  • फायरिंग के मुख्य आरोपी विकास के खिलाफ 60 केस दर्ज
  • मां सरला देवी- पुलिस के सामने खुद सरेंडर कर दे विकास

कानपुर मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जिम्मेदार कुख्यात अपराधी विकास दुबे की जानकारी देने पर पुलिस ने 50 हजार रुपये का इनाम रखा है. हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की मां सरला देवी ने अपने बेटे को सलाह दी कि वो सरेंडर कर दे वरना पुलिस उसे मार देगी.

सरला देवी ने कहा, 'उसे पुलिस की पकड़ में आने से पहले खुद ही सरेंडर कर देना चाहिए. अगर वह सामने नहीं आता है तो पुलिस उसे एनकाउंटर में मार डालेगी.'

उन्होंने कहा, 'मैं कहती हूं कि अगर पुलिस उसे पकड़ लेती है तो उसे मार भी दे क्योंकि उसने बहुत गलत काम किया है.' विकास के खिलाफ दर्जनों संगीन मामले चल रहे हैं. हत्या और हत्या की कोशिश के कई केस भी इसमें शामिल हैं.

कानपुर में शुक्रवार सुबह हिस्ट्रीशीटर विकास को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने गोलियां बरसा दीं जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए, जबकि कई घायल हुए हैं. पुलिस की टीम सुबह हत्या के प्रयास के केस में शातिर विकास दुबे को गिरफ्तार करने गई थी.

इसे भी पढ़ें --- कुख्यात विकास दुबे पर था दर्जा प्राप्त मंत्री के मर्डर का आरोप, कोर्ट ने किया था बरी

विकास दुबे पर 50 हजार का इनाम

मुख्य आरोपी विकास के खिलाफ 60 केस दर्ज हैं. पुलिस उसकी तलाश कर रही है, लेकिन अभी तक वह पहुंच से दूर है. इस बीच कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने विकास दुबे के बारे में जानकारी देने वाले को 50 हजार रुपये देने के इनाम का ऐलान किया है.

इससे पहले शुक्रवार को हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस की टीम पर बदमाशों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी जिसमें एक क्षेत्राधिकारी यानी डिप्टी एसपी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. हमले में 7 अन्य पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं.

इसे भी पढ़ें --- कानपुर में बदमाश को पकड़ने गई पुलिस टीम पर फायरिंग, DSP समेत 8 शहीद

फायरिंग में 8 पुलिसकर्मी हुए शहीद

कानपुर के चौबेपुर थाना इलाके में पुलिस ने बिकरू गांव में दबिश दी थी. पुलिस यहां हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई थी. दबिश के दौरान बदमाशों ने पुलिस को घेरकर फायरिंग कर दी जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए.

इस मुठभेड़ में बिल्हौर के सीओ देवेंद्र मिश्र के अलावा शिवराजपुर के एसओ महेश यादव, 2 सब इंस्पेक्टर और 4 सिपाही शहीद हो गए. इसके अलावा 7 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, जिनमें कई की हालत गंभीर बताई जा रही है. योगी सरकार ने शहीदों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें