scorecardresearch
 

चंडीगढ़ में पिस्तौल दिखाकर दिनदहाड़े करोड़ों की ज्वेलरी की लूट

चंडीगढ़ में सेक्टर 17 स्थित एक ज्वेलरी शोरूम में रविवार को लुटेरों ने पिस्तौल दिखाकर दिन दहाड़े करोड़ों की ज्वेलरी और लाखों रुपये लूट लिए. फोरएवर डायमंड्स नाम के शोरूम में लूट के बाद लुटेरे अपने साथ वहां का डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर भी लेकर चलते बने.

मौके पर पहुंची पुलिस ने की गहन छानबीन मौके पर पहुंची पुलिस ने की गहन छानबीन

चंडीगढ़ में सेक्टर 17 स्थित एक ज्वेलरी शोरूम में रविवार को लुटेरों ने पिस्तौल दिखाकर दिन दहाड़े करोड़ों की ज्वेलरी और लाखों रुपये लूट लिए. फोरएवर डायमंड्स नाम के शोरूम में लूट के बाद लुटेरे अपने साथ वहां का डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर भी लेकर चलते बने.

तीन लुटेरों ने दिनदहाड़े की लूट
शोरूम के मालिक रजनीश वर्मा ने लूटे गए सामानों की कीमत बताने में अनाकानी की. वहीं उनके भाई के मुताबिक लुटेरे 12 करोड़ की ज्वेलरी और 9 लाख रुपये नगद ले गए. उन्होंने बताया कि दोपहर लगभग 12 बजे 2 लड़के और एक लड़की उनके शोरूम में आए. उन्होंने एक कर्मचारी को ज्वेलरी दिखाने की बात कहकर रेकी की.

वारदात के वक्त शोरूम में थे 6 कर्मचारी
इसके बाद एक युवक ने पिस्तौल निकाल कर तान दिया. इस दौरान शोरूम में मौजूद मालिक को भी बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम दिया. शोरूम मालिक के भाई ने बताया कि उस वक्त शोरूम में लगभग 6 कर्मचारी मौजूद थे. रविवार होने की वजह से लोग कम आते हैं.

एक दिन पहले कर चुके थे रेकी
उन्होंने बताया कि जिन लोगों ने वारदात को अंजाम दिया है. वे लोग शनिवार को शोरूम में अंगूठी बनवाने के नाम पर रेकी कर गए थे. आज लुटेरे अंगूठी लेने के बहाने ही शोरूम में दाखिल हुए थे.

आसपास के सीसीटीवी फुटेज से जांच में मदद
इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है. चंडीगढ़ डीएसपी सतीश कुमार ने कहा कि ऑपरेशन सेल और क्राइम ब्रांच ने मामले की गहन छानबीन शुरू कर दी है. लुटेरों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि पुलिस ने शोरूम को सील कर अब आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज से जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है.

लूट में कर्मचारी के शामिल होने का शक
उन्होंने कहा कि यह मामला शहर में सबसे बड़ी लूट है. वारदात में किसी कर्मचारी के शामिल होने की भी आशंका है. क्योंकि शोरूम में कोई हूटर नहीं बजा. साथ ही लुटेरों को शोरूम के वीडियो रिकॉर्डर के बारे में भी पता था. उन सबने आराम से बैग भरा और शोरूम के अंदर ही मालिक और कर्मचारी को बंद कर भाग निकले.

इसके पहले साल 2011 में हुई थी बड़ी लूट
इसके पहले जनवरी 2011 में चंडीगढ़ के मनी माजरा में तनिष्क के शोरूम से लगभग 10 करोड़ रुपये की लूट की गई थी. उस लूट से पहले सभी लुटेरे मनीमाजरा में एक महीने रहकर वारदात का पूरा तानाबाना बुना था. आधी रात को अंजाम दी गई इस लूट के सभी आरोपियों को चंडीगढ़ और दिल्ली पुलिस ने यूपी के गाजियाबाद से गिरफ्तार किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें