scorecardresearch
 

MP हनीट्रैप केस: फरार जीतू सोनी पर पुलिस ने इनाम बढ़ाकर किया 1 लाख रुपये

मध्य प्रदेश पुलिस ने इंदौर हनी ट्रैप का खुलासा करने वाले अखबार के मालिक जीतू सोनी की गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये के इनाम की घोषणा की है. राज्य सरकार ने भी इस इनाम की राशि को मंजूरी दे दी है.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

  • पहले जीतू सोनी पर 10 हजार रुपये का था इनाम
  • जीतू के अखबार ने किया था हैनी ट्रैप का खुलासा
इंदौर हनी ट्रैप का खुलासा करने वाले अखबार के मालिक जीतू सोनी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. राज्य सरकार ने फरार चल रहे जीतू सोनी की गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये के इनाम को मंजूरी दे दी है.

कई संगीन आरोपों में वांछित जीतू उर्फ जितेन्द्र काफी समय से फरार चल रहा है. उसकी गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के मकसद से पुलिस मुख्यालय ने उसकी गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये की इनाम राशि स्वीकृत करने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा था.

अब मध्य प्रदेश के गृह विभाग ने इस इनामी राशि को मंजूरी दे दी है. गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया है. इससे पहले जीतू सोनी पर 10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया गया था.

इंदौर के कनाड़िया के आलोक नगर निवासी जीतू सोनी के खिलाफ इंदौर के ही पलासिया, कनाड़िया, एमआईजी, तुकोगंज और लसूड़िया समेत अन्य पुलिस थानों में संगीन आपराधिक मामले दर्ज हैं.

कौन है जीतू सोनी?

जीतू सोनी सांझा लोकस्वामी अखबार का मालिक है, जो रोज शाम को प्रकाशित होता है. इसी अखबार में हनी ट्रैप से जुड़े बातचीत के कुछ अंश प्रकाशित हुए थे. आरोपों के मुताबिक ये बातचीत 5 महिलाओं और शिवराज सरकार के एक मंत्री और मुख्य सचिव के बीच हुई थी.

इस अखबार के वेब पोर्टल पर भी हनीट्रैप कांड से जुड़े वीडियो अपलोड किए गए थे, जिसके बाद जीतू सोनी के ठिकानों पर एक साथ छापे मारे गए थे. वहीं पिछले दिनों जीतू सोनी के होटल, बार और बंगलों पर बुलडोजर चलाकर इंदौर नगर निगम ने उसकी संपत्तियों को जमींदोज कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें