scorecardresearch
 

लिव-इन पार्टनर के खिलाफ शिकायत कर महिला ने थाने के बाहर लगाई आग, मौत

हैदराबाद के एक पुलिस स्टेशन के सामने मंगलवार को खुद को आग के हवाले करने वाली चेन्नई निवासी महिला ने बुधवार को यहां इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया. महिला ने अपने लिव-इन पार्टनर के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करा रखी है.

सांकेतिक तस्वीर (फोटो-GETTYIMAGES) सांकेतिक तस्वीर (फोटो-GETTYIMAGES)

  • महिला ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ा
  • लिव-इन पार्टनर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई
  • शिकायत दर्ज कराने के बाद खुद को आग लगाई

हैदराबाद के एक पुलिस स्टेशन के सामने मंगलवार को खुद को आग के हवाले करने वाली चेन्नई निवासी महिला ने बुधवार को यहां इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया.

पुलिस के अनुसार, महिला ने मंगलवार को अपने लिव-इन पार्टनर के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराने के बाद हैदराबाद के एक पुलिस स्टेशन के सामने खुद को आग लगा ली थी. आग लगाने वाली महिला एस. लोकेश्वरी (37) का 60 फीसदी शरीर जल चुका था, जिसने सरकार द्वारा संचालित उस्मानिया अस्पताल में बुधवार को दम तोड़ दिया.

महिला ने अपने साथी प्रवीण कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराने के बाद मंगलवार शाम शहर के बीच में पुंजागुट्टा पुलिस स्टेशन के सामने खुद को आग लगा ली थी. शिकायत दर्ज कराने के बाद वह इमारत से बाहर आई और खुद पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली. वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने आग बुझाई और उसे अस्पताल पहुंचाया.

आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज

लोकेश्वरी की मौत के बाद पुलिस ने प्रवीण कुमार के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया है. पुलिस की ओर से प्रारंभिक जांच में पता चला कि लोकेश्वरी अपने पति की मौत के बाद प्रवीण कुमार के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में थी.

चेन्नई की रहने वाली लोकेश्वरी 2012 में एक मैट्रिमोनियल साइट के जरिए हैदराबाद के एक आभूषण की दुकान के कर्मचारी प्रवीण कुमार के संपर्क में आई और इसके बाद वे दोनों हैदराबाद में एक साथ रहने लगे.

महिला पर लगा था चोरी का आरोप

प्रवीण कुमार ने लोकेश्वरी को उसी दुकान में नौकरी दिलाने में मदद की थी. हालांकि बाद में दोनों के बीच मतभेद पैदा हो गए. प्रवीण ने 2014 में उसके खिलाफ सोने के आभूषणों की चोरी के आरोप में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद लोकेश्वरी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. जेल से छूटने के बाद लोकेश्वरी ने प्रवीण से माफी मांगी.

प्रवीण कुमार ने लिव-इन रिलेशनशिप के मुआवजे के रूप में 7.50 लाख रुपये देने की पेशकश की तो वह इसके लिए राजी हो गई. इसके बाद लोकेश्वरी चेन्नई चली गई और अपनी मां के साथ रहने लगी. वह शुक्रवार को प्रवीण से पैसे लेने के लिए अपने दोस्त कन्नन के साथ हैदराबाद आई थी. प्रवीण कुमार उसे पैसे देने में देरी करता रहा और बाद में उसने अपना मोबाइल फोन बंद कर लिया.

फिर लोकेश्वरी अपने दोस्त कन्नन के साथ पुंजागुट्टा पुलिस स्टेशन आई और प्रवीण कुमार के खिलाफ लिखित शिकायत दी. जब कन्नन एक पुलिस अधिकारी के साथ बैठे थे, तभी वह बाहर आई और खुद को आग लगा ली .

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें