scorecardresearch
 

एक और बुलंदशहर कांड, फिर चर्चा में आया वेस्ट यूपी का कुख्यात 'एक्सल गैंग'

ग्रेटर नोएडा के जेवर थाना इलाके के साबौता गांव के पास बुधवार की रात चलती कार का टायर पंचर करके लूट और गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने में वेस्ट यूपी के कुख्यात एक्सल गैंग का नाम सामने आ रहा है. इसी गैंग ने पिछले साल बुलंदशहर में नेशनल हाइवे पर कार सवार महिलाओं के साथ गैंगरेप किया था. पिछले तीन महीने में इस गैंग की करतूत से वेस्ट यूपी दहल उठा है.

वेस्ट यूपी के कुख्यात एक्सल गैंग की काली करतूत वेस्ट यूपी के कुख्यात एक्सल गैंग की काली करतूत

ग्रेटर नोएडा के जेवर थाना इलाके के साबौता गांव के पास बुधवार की रात चलती कार का टायर पंचर करके लूट और गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने में वेस्ट यूपी के कुख्यात एक्सल गैंग का नाम सामने आ रहा है. इसी गैंग ने पिछले साल बुलंदशहर में नेशनल हाइवे पर कार सवार महिलाओं के साथ गैंगरेप किया था. पिछले तीन महीने में इस गैंग की करतूत से वेस्ट यूपी दहल उठा है. इस गैंग को पकड़ना पुलिस के लिए टेढ़ी खीर बन चुका है.

सबसे प्रमुख बात ये है कि एक्सल गैंग एक ही तरीके से वारदात को अंजाम देता है. पहले लोह का पहिया या रॉड सड़क पर फेंक कर कार को रोकना. उसके बाद कार सवार को बंधक बनाकर सड़क किनारे खेत में ले जाना. उनके साथ लूटपाट करना. कार में सवार महिलाओं के साथ गैंगरेप करके फरार हो जाना. इस तरह अंधेरी रात में खेत में पीड़ितों के पास मदद भी जल्द नहीं पहुंच पाती. अंधेरा होने से बदमाशों की पहचान भी मुश्किल होती है.

जानकारी के मुताबिक, एक खास वजह से इस गैंग को एक्सल गैंग के नाम से जाना जाता है. बताया जाता है कि एक्सल गैंग के बदमाश साइकिल के पहिये के गियर वाला लोहे का चक्का हाइवे पर सुनसाना इलाकों में चलती गाड़ियों पर फेंक देते हैं. लोहे गाड़ी पर गिरने के बाद तेज आवाज आने और फिर इसके सड़क पर गिरने के चलते गाड़ी का एक्सल टूट कर गिरने जैसी आवाज आती है. इस वजह से कार सवार तुरंत रूक जाता है.

पुलिस की मानें तो इस एक्सेल गैंग के ज़्यादातर बदमाश राजस्थान, आगरा और आस-पास के इलाक़ों के रहनेवाले हैं. वेस्ट यूपी में भी अब कुछ ऐसे गैंग सक्रिय हो गए हैं. एक्सेल गैंग की मॉडस ऑपरेंडी को देखते हुए ही पुलिस अक्सर लोगों को हाई वे पर ऐसी किसी हमले या आवाज़ होने पर नहीं रुकने की सलाह देती है. बीती रात भी जब गाड़ी पर हमला हुआ तो ड्राइवर नहीं रुका, लेकिन जब एक साथ दो टायर बैठ गए, तो फिर उसे रुकना पड़ा.

एक्सल गैंग ने गौतमबुद्ध नगर के जेवर और रबूपुरा इलाके समेत आसपास के जिलों में कई वारदातों को अंजाम दिया है. अगस्त, 2016 में हुए बुलंदशहर हाइवे गैंगरेप केस अभी तक लोग भूले भी नहीं है. उस दिन इसी गैंग ने मां और बेटी के साथ गैंगरेप और लूट की वारदात को अंजाम दिया था. नेशनल हाइवे-91 से परिवार नोएडा से शाहजहांपुर जा रहा था. दोस्तपुर गांव के पास एक्सल गैंग ने सड़क पर एक लोहे की रॉड को रख दिया था.

बताया जाता है कि जैसे ही कार उसपर चढी लोगों को लगा कि कार का एक्सेल टूट गया है. कार को सड़क किनारे रोक दिया. रुकते ही झाड़ियों से करीब एक दर्जन हथियारबंद अपराधी बाहर निकल आए और परिवार को कार समेत हाइवे से करीब 50 मीटर दूर खेतों में ले गए. उन्हें बंधक बनाकर कैश, लाखों रुपये का सामान और महिलाओं के जेवर लूट लिए. इतना ही नहीं दरिंदों ने कार में बैठी महिलाओं से गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया था.

इसी तरह बुधवार की रात जेवर-बुलंदशहर रोड से पीड़ित परिवार कार से जा रहा था. कार में 4 महिलाएं, 2 पुरुष और 2 बच्चे सवार थे. रास्ते में बदमाशों ने उनका पीछा किया और कार की टायर में गोली मारकर रोक दिया. इसके बाद लोगों को बाहर निकालकर लूटपाट शुरू कर दिया. महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करने के बाद गैंगरेप किया. पुलिस को पूरा शक है कि इस वारदात को भी एक्सल गैंग ने ही अंजाम दिया है. पुलिस जांच कर रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें