scorecardresearch
 

बाबरी विध्वंस की बरसी पर अयोध्या सहित पूरे यूपी में हाई अलर्ट

बाबरी मस्जिद के विवादित ढांचे को गिराने की बरसी के मद्देनजर बुधवार को पूरे यूपी में हाई अलर्ट जारी किया गया है. पुलिस महानिदेशक कार्यालय ने सभी जिला कप्तानों को कड़ी सतर्कता बरतने का निर्देश जारी किया है.

अयोध्या में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम अयोध्या में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम

उत्तर प्रदेश में बाबरी मस्जिद के विवादित ढांचे को गिराने की बरसी के मद्देनजर बुधवार को पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट जारी किया गया है. पुलिस महानिदेशक कार्यालय ने सभी जिला कप्तानों को कड़ी सतर्कता बरतने का निर्देश जारी किया है.

यूपी पुलिस महानिदेशक मुख्यालय से जारी निर्देश में कहा गया है कि जरूरत पड़ने पर जिलों में धारा 144 लगाई जाए. कानून व्यवस्था बनाए रखने में कोई कमी नहीं होनी चाहिए. किसी भी हालात में सख्ती से निपटने के निर्देश हैं.

पुलिस महानिरीक्षक कानून व्यवस्था हरिराम शर्मा ने कहा कि बुधवार को प्रदेश भर की पटाखा दुकानों को बंद रखने का निर्देश जारी किया गया है. शराब, असलहा दुकानों और अराजतक तत्वों पर भी नजर बनाए रखने को भी कहा गया है.

इसके साथ ही सुरक्षा व्यवस्था के लिए फैजाबाद को सर्वाधिक 6 कंपनी पीएसी अतिरिक्त दी गई है. प्रदेश भर के जिलों की सुरक्षा के लिए 27 कंपनी पीएसी तैनात की गई हैं. रामजन्म भूमि अयोध्या पर नजर बनाए रखने की हिदायत दी गई है.

डीजीपी मुख्यालय से जारी निर्देश में कहा गया है कि किसी भी तरह के समारोह, जश्न या काला दिवस जैसे कार्यक्रम पर जिला पुलिस स्थानीय अधिसूचना इकाई (एलआईयू) के जरिए नजर रखें. वह ऐसे किसी भी कार्यक्रम को न होने दें.

बताते चलें कि बाबरी मस्जिद विध्वंस को आज 25 साल पूरे हो गए हैं. सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर निर्णायक सुनवाई शुरू हुई. इस दौरान सुन्नी बोर्ड की ओर से वकील कपिल सिब्बल ने उनका पक्ष रखा.

वकील कपिल सिब्बल ने इस केस की सुनवाई को 2019 तक टालने की बात कही, लेकिन SC ने इस दलील को मानने से इंकार कर दिया है. अगली सुनवाई 8 फरवरी, 2018 को होगी. कोर्ट ने सभी से पूरी तैयारी से आने का निर्देश दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें