scorecardresearch
 

ब्याज पर लिया पैसा नहीं लौटाया तो कार से रौंदकर की थी हत्या, आरोपी गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार आरोपी लवण ने पूछताछ के दौरान कहा कि उसने बंटी हसीजा को ब्याज पर 40 हजार रुपये दिए थे. यह रुपये लौटाने के लिए उसने बंटी से कई दफे कहा, लेकिन वह लौटा नहीं रहा था.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • गुरुग्राम में 7 फरवरी को हुई थी बंटी हसीजा की हत्या
  • आरोपी ने की थी मृतक का शव जलाने की कोशिश

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटी साइबर सिटी गुरुग्राम के सेक्टर 12 में 8 फरवरी की सुबह एक युवक का रक्तरंजित शव मिला था. मृतक की पहचान बंटी हसीजा के रूप में हुई थी. अब पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. पुलिस के अनुसार बंटी की हत्या ब्याज पर लिए गए रुपये नहीं लौटाने पर की गई थी.

इस मामले में आरोपी लवण उर्फ विजय बत्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी लवण को जिला न्यायालय में पेश किया. पुलिस के अनुसार वह पिछले लंबे समय से ब्याज पर पैसे देने का कार्य करता था. पुलिस को उम्मीद है कि आरोपी से पूछताछ के बाद कई और मामलों का खुलासा हो सकता है.

यह भी पढ़ें- शक के चलते BJP की उभरती नेत्री का कत्ल, दिल्ली विधानसभा चुनाव में किया था प्रचार

पुलिस ने बताया कि आरोपी लवण ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. पुलिस के अनुसार आरोपी लवण ने पूछताछ के दौरान कहा कि उसने बंटी हसीजा को ब्याज पर 40 हजार रुपये दिए थे. यह रुपये लौटाने के लिए उसने बंटी से कई दफे कहा, लेकिन वह लौटा नहीं रहा था.

यह भी पढ़ें- बाराबंकी: खेत में फसल की रखवाली के लिए गई थी नाबालिग, रेप के बाद हत्या

इसलिए आरोपी ने योजना बनाकर हसीजा को बंटी अपनी वैगन-आर कार में शराब पिलाकर पूरे दिन घुमाता रहा. पुलिस के अनुसार आरोपी और मृतक के बीच शराब के नशे में गाली-गलौज भी हुई. लवण ने सेक्टर 12 में बंटी हसीजा को घर छोड़ने के बहाने अपनी गाड़ी से उतार दिया और इसके बाद पीछे से टक्कर मार दिया.

यह भी पढ़ें- महाराष्ट्र: रेप और हत्या के 5 आरोपी जेल की छत में सेंध लगाकर फरार

बंटी गिरा तो उसे अपनी कार से रौंदता रहा. पुलिस के अनुसार आरोपी ने उसकी मौत के बाद सबूत मिटाने का भी प्रयास किया. वह अपने घर से पेट्रोल लेकर आया और शव को जलाने की भी कोशिश की थी. बता दें कि वारदात 7 फरवरी की रात की है. 8 फरवरी की सुबह बंटी का शव मिला था, जिसके शरीर पर चोट और वाहन के टायर के निशान थे.

यह भी पढ़ें- शाहजहांपुर: 5वीं पत्नी ने किया संत के खिलाफ रेप और साजिश का केस

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाने के साथ ही जांच में फोरेंसिक टीम की भी मदद ली थी. पुलिस ने मृतक की पहचान होने के बाद उसकी लोकेशन ट्रेस कर लोगों से पूछताछ करनी शुरू कर दी. जांच में पता चला कि घटना के दिन वह लवण उर्फ विजय बत्रा के साथ था. पुलिस ने लवण की गिरफ्तारी के लिए एक टीम बनाई और उसे गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें