scorecardresearch
 

गुरुग्रामः दलितों पर हमला, राजपूतों ने दुकान और गाड़ियों को जलाया

गुरुग्राम के वजीरपुर गांव में राजपूत जाति के लोग दलितों के खिलाफ जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर पूरी रात करते रहे गुंडई. मौके से देशी कट्टा, रॉड, लाठी व डंडे बरामद. शुक्रवार शाम से शनिवार अल सुबह तक कई बार अलग अलग लोगों ने किया हमला.

दुकान को बनाया निशाना (फोटो-तनसीम हैदर) दुकान को बनाया निशाना (फोटो-तनसीम हैदर)

भारतीय जनता पार्टी दलितों हितों की सुरक्षा का दावा करते हुए नहीं थक रही है, लेकिन कमजोर समाज पर हमले के अधिकतर मामले भाजपा शासित राज्यों में ही देखने को मिल रहे हैं. नया मामला हरियाणा के गुरुग्राम का है.

साइबर सिटी के वज़ीरपुर गांव में शुक्रवार देर रात सवर्ण जाति के लोगों ने दलित परिवारों पर हमला बोल दिया. दरअसल किसी बात को लेकर कहासुनी इतनी बढ़ गई कि वजीरपुर गांव के राजपूत समुदाय के लोगों ने दलित बस्ती में घुस लाठी डंडों से हमला कर दिया. गुरुग्राम पुलिस ने दलित समाज के परिवारों की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की है.

हालांकि ग्रामीणों ने देर शाम किसी तरह से बात को संभाला और दोनों पक्षों में समझौता भी करवाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन सवर्ण जाति के लोगों को शायद यह बात नागवार गुजरी और देर शाम हुए झगड़े के बाद सुबह तक तकरीबन 3 बार दलित बस्ती में खुद तांडव मचाया.

पुलिस के मुताबिक बस्ती की दुकानों को आग से जलाने की कोशिशें की गई. वहां खड़ी गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई, और कानून से बेखौफ बदमाश सरेआम जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते रहे. शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस ने मामले पर साफ तौर से बोलने की जगह मामले की तफ्तीश की बात कही है. बहरहाल मामले की तफ़्तीश जारी है.

बता दें कि यह वही वजीरपुर गांव है जिसमें की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के जिला अध्यक्ष भुपिंदर सिंह चौहान, भाजपा के ला पार्षद चेयरमेन कल्याणसिंह चौहान रहते हैं. हालांकि मामले में राजनैतिक दबाव से इनकार भी नहीं किया जा सकता. लेकिन इस हमले से एक बार फिर दलितों की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें