scorecardresearch
 

यूपी: पहली पत्नी की हत्या कर रचाई दूसरी शादी, 5 साल तक चकमा देने के बाद गिरफ्तार

मृतक के बेटे तालिब अली ने ही कैंट पुलिस को पिता के खिलाफ मां को जहर देकर मारने की एफआईआर दर्ज कराई. बेटे के कहने पर पुलिस ने उसकी मां की हड्डी में तब्‍दील हो चुकी लाश को कब्र से निकलवाकर उसका पोस्‍टमॉर्टम कराया.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • आरोपी पर था 15 हजार रुपये का ईनाम
  • बेटे ने कराई पिता के खिलाफ एफआईआर

पहली पत्‍नी की हत्‍या कर पुलिस से बचकर दूसरी पत्‍नी के साथ पांच साल तक रहने के बाद आरोपी को गोरखपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. आरोपी नाम और पता बदलकर पुलिस को पिछले पांच साल से चकमा देता रहा है. आरोप है कि दूसरी औरत के साथ जिंदगी बिताने के फेर में उसने पहली पत्‍नी की हत्‍या कर दी थी. जिसके बाद से उसके ऊपर 15 हजार रुपये का ईनाम घोषित था.

बताया जा रहा है कि गोरखपुर के कैंट थाना क्षेत्र के आवास विकास कालोनी कूड़ाघाट का रहने वाला सिद्दीक अली आर्मी से वीआरएस ले चुका है. उसकी पत्‍नी की पांच साल पहले मौत हो गई. उसने पत्‍नी का अंतिम संस्‍कार कर दिया. आरोपी ने सीआरपीएफ में कमांडो बेटे तालिब अली को मां की मौत की सूचना नहीं दी. जब वो छुट्टी पर लौटा, तो उसको मां की मौत के बारे में पता चला. इस बीच पिता के दूसरी औरत के साथ संबंध की वजह से उसे पिता पर मां की हत्‍या करने का शक पैदा हो गया.

ये भी पढ़ें-भगवान बद्रीनाथ धाम के कपाट खुले, कोरोना संकट के चलते नहीं पहुंच रहे श्रद्धालु

सीओ सुमित कुमार शुक्‍ला का कहना है कि इस मामले में मृतक के बेटे तालिब अली ने ही कैंट पुलिस को पिता के खिलाफ मां को जहर देकर मारने की एफआईआर दर्ज कराई. पुलिस ने तालिब की तहरीर पर उसके पिता सिद्दीक अली के ऊपर आईपीसी की धारा 302, 328 और 506 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की. बेटे के कहने पर पुलिस ने उसकी मां की हड्डी में तब्‍दील हो चुकी लाश को कब्र से निकलवाकर उसका पोस्‍टमॉर्टम कराया.

इसी बीच सिद्दीक के खिलाफ पुलिस ने 15 हजार रुपये का ईनाम घोषित कर दिया. पुलिस से बचने के लिए वो नाम और पता बदलकर इधर-उधर नौकरी करता रहा. पुलिस उसकी तलाश करती रही लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला. इस बीच पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट में एंटीमार्टम ट्रामा का होना पाया गया. इसमें एफआईआर की पुष्टि हुई. इसके बाद पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर द‍ी.

ये भी पढ़ें-उत्तराखंड में खुले चारधाम यात्रा के द्वार, खुद करना होगा रुकने का इंतजाम

इस बीच पुलिस को उसके खिलाफ सुराग लगा, तो पुलिस ने हत्या में वांछित अभियुक्त सिद्दीक को 11 जून को गिरफ्तार कर लिया. हालांकि, इस मामले में आरोपी सिद्दीक अली का कहना है कि उसकी बेटी और बेटे से उसे जान का खतरा रहा है. उसके ऊपर चाकू और लाठी से हमला भी किया गया. लेकिन, हर बार उसका बेटा उस पर भारी पड़ा. कैंट थाने में उसने एफआईआर भी दर्ज कराई लेकिन, वो केस हार गया.

आरोपी ने बताया कि उसकी पत्‍नी के अंतिम संस्‍कार में 50 रिश्‍तेदार शामिल हुए थे. उसकी बेटी और बेटा भी उस समय मौजूद रहे हैं. इस मामले में पुलिस ने फिलहाल आरोपी पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. वहीं, ये न्‍यायालय ही तय करेगा कि उसने पत्‍नी की हत्‍या की है या नहीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×