scorecardresearch
 

UP: दिन में सामान सप्लाई करने वाले ने रात में की दुकान में चोरी, 4 गिरफ्तार

गाजियाबाद की घंटाघर कोतवाली थाना पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. बीती 28 तारीख की रात किराना मंडी इलाके में एक थोक व्यापारी के गोदाम में हुई लाखों की चोरी का पुलिस ने खुलासा किया गया है.

गोदाम में हुई लाखों की चोरी का हुआ खुलासा (Photo- Aajtak) गोदाम में हुई लाखों की चोरी का हुआ खुलासा (Photo- Aajtak)

  • कोतवाली थाना पुलिस को मिली बड़ी सफलता
  • गोदाम में हुई लोखों की चोरी का किया खुलासा
  • मेरठ के रहने वाले हैं चारों आरोपी

गाजियाबाद की घंटाघर कोतवाली थाना पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. बीती 28 तारीख की रात किराना मंडी इलाके में एक थोक व्यापारी के गोदाम में हुई लाखों की चोरी का खुलासा पुलिस ने किया गया है. चोरी का खुलासा कर पुलिस ने चार चोरों को गिरफ्तार किया है.

उनके कब्जे से व्यापारी के गोदाम से चोरी किए गए सामान को भी बरामद कर लिया गया है. शैम्पू, बॉडी लोशन, साबुन से भरी करीब 40 पेटियों को चोर चोरी कर ले गए थे.

चारों आरोपी मेरठ के रहने वाले हैं, जिनके नाम बिलाल खान उर्फ बबलू, फैसल, आसिफ और आदिल है. बबलू पेशे से ड्राइवर है जो मेरठ से किराना मंडी में किराने के सामान की सप्लाई किया करता था. बबलू ने अपने तीन साथियों संग मिलकर किराना मंडी के व्यापारी के यहां चोरी करने का प्लान बनाया और 28 तारीख की रात को घटना को अंजाम भी दे डाला.

मुख्य आरोपी करता था माल सप्लाई

चोरी के मुख्य आरोपी बबलू अक्सर व्यापारी के यहां माल की सप्लाई करने आया करता था और उसी दौरान उसने गोदाम की रेकी के साथ व्यापारी के गोदाम की चाभी की फोटो मोबाइल पर खींच ली थी. उसी फोटो के सहारे बेहद शातिराना तरीके से बबलू ने डुप्लीकेट चाभी बनवाकर चोरी की घटना को अंजाम दिया था.

घटना से जुड़ा एक सीसीटीवी भी पुलिस को मिला था. हालांकि, फुटेज में चोरों के चेहरे ज्यादा साफ नजर नहीं आ पा रहे थे, जिसकी वजह से पुलिस को भी चोरों तक पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

करीब 10 दिन पहले घटना की सूचना पर घंटाघर कोतवाली पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर ली थी और आरोपियों की तलाश में जुट गई थी. चोरी किए गए सामान की कीमत 400000 बताई गई थी. आज गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से चोरी किए गए समान का लगभग 90 प्रतिशत सामान बरामद भी कर लिया गया है.

आरोपी के पास से एक टाटा मैजिक टेम्पो भी बरामद किया गया है, जो चोरी की घटना में इस्तेमाल किया गया था. गिरफ्तार आरोपियों में से एक आरोपी पहले भी ई-रिक्शा चोरी के आरोप में जेल जा चुका है, जबकि गिरफ्तार बाकी आरोपियों के आपराधिक इतिहास की ज्यादा जानकारी की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें