scorecardresearch
 

पूर्व चीफ जस्टिस आरएम लोढ़ा से ठगी, इस तरह हुए ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार

ऑनलाइन लेन-देन के तौर-तरीकों ने भले ही जीवन को आसान बना दिया हो, लेकिन इसके ठगी के मामलों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है. आजकल पूरे देश में रोजाना ऑनलाइन ठगी के मामले सुर्खियों में रहते हैं.

पूर्व मुख्य न्यायाधीश आर. एम. लोढ़ा (फाइल फोटो) पूर्व मुख्य न्यायाधीश आर. एम. लोढ़ा (फाइल फोटो)

ऑनलाइन लेन-देन के तौर-तरीकों ने भले ही जीवन को आसान बना दिया हो, लेकिन इसके ठगी के मामलों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है. आजकल पूरे देश में रोजाना ऑनलाइन ठगी के मामले सुर्खियों में रहते हैं. हालात ये हो गए हैं कि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश भी ऑनलाइन ठगी का शिकार होने से नहीं बच सके हैं.

नया मामला शीर्ष कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश आर. एम. लोढ़ा का है जो ऑनलाइन ठगी के शिकार हुए हैं. लोढ़ा ने 1 जून को वसंत विहार पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई कि उनके एक पूर्व सहयोगी जज बीपी सिंह की मेल आईडी से तड़के 4 बजे के आसपास मेल आया. मेल में जज बीपी सिंह ने कहा कि उनके कजन की तबीयत बेहद नाजुक है और उन्हें 95 हजार से 1 लाख  रुपये तक की जरूरत है.

मेल पढ़ने के बाद पूर्व चीफ जस्टिस आर एम लोढ़ा ने बीपी सिंह को एक लाख रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिए. बाद में उन्हें पता चला कि जिन पूर्व जज बीपी सिंह से उन्हें मेल आया है, उनका अकाउंट हैक हो चुका है और वो ठगी के शिकार हो चुके हैं. इसके बाद पूर्व चीफ जस्टिस ने मालवीय नगर में शिकायत की. पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

बता दें कि जस्टिस लोढ़ा 41वें चीफ जस्टिस रहे हैं और सिंतबर 2014 में रिटायर हुए थे. बीसीसीआई के रिफॉर्मेशन में भी इनका योगदान रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें