scorecardresearch
 

फरीदाबाद में डीसीपी विक्रम कपूर ने गोली मारकर की खुदकुशी

फरीदाबाद में एनआईटी जोन के डीसीपी विक्रम कपूर ने खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली है. पुलिस को मौके से अभी कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है. पुलिस ने लाश को कब्जे में ले लिया है.

डीसीपी विक्रम कपूर की फाइल फोटो (फोटो क्रेडिट- ANI) डीसीपी विक्रम कपूर की फाइल फोटो (फोटो क्रेडिट- ANI)

  • फरीदाबाद के डीसीपी ने की खुदकुशी
  • अगले साल होने वाले थे रिटायर
  • खुदकुशी की वजह साफ नहीं
  • जांच में जुटी पुलिस

फरीदाबाद में एनआईटी जोन के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) विक्रम कपूर ने खुद को गोली मार ली है. बताया जा रहा है कि बुधवार की सुबह 6 बजे विक्रम कपूर ने अपने सरकारी आवास पर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली.

खुदकुशी की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है. पुलिस को मौके से फिलहाल कोई सुसाइड नोट भी बरामद नहीं हुआ है. विक्रम कपूर 2020 में अपने पद से रिटायर होने वाले थे.

पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है. शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. मौके पर पहुंची पुलिस जांच में जुटी है. पुलिस आस पास के लोगों से भी पूछताछ कर रही है. फिलहाल आत्महत्या की वजह साफ नहीं हो सकी है.

फरीदाबाद पुलिस के पीआरओ सुबे सिंह ने कहा कि बहुत दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि विक्रम कपूर ने सुबह 6 बजे पुलिस लाइंस, सेक्टर 30, फरीदाबाद में अपने आवास पर अपनी सर्विस रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली. आत्महत्या के कारण की जांच की जा रही है.

विक्रम कपूर के परिवार में दो बेटे और पत्नी हैं. उनका एक बेटा पंचकूला में रहता है, जबकि दूसरा बेटा उनके साथ ही रहता था. उन्होंने बुधवार सुबह करीब 6.00 बजे मॉर्निग वॉक से लौटने के बाद खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली. कुरुक्षेत्र के रहने वाले विक्रम कपूर 1983 में एएसआई के पद पर भर्ती हुए थे. बाद में वह प्रमोट होकर आईपीएस बन गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें