scorecardresearch
 

नकली वीजा रैकेट का भंडाफोड़, क्राइम ब्रांच ने 8 को किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो नेपाली नागरिकों को विदेश भेजने का झांसा देकर नकली वीजा के जरिए करोड़ों रुपए की ठगी को अंजाम देता था. नकली वीजा बनाने वाला ये गिरोह अभी तक सैकड़ों लोगों को अपना शिकार बना चुका है.

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

  • इंटरनेशनल नकली वीजा रैकेट का भंडाफोड़
  • दिल्ली क्राइम ब्रांच ने 8 लोगों को किया गिरफ्तार
  • 100 से ज्यादा लोगों को बना चुके थे अपना शिकार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो नेपाली नागरिकों को विदेश भेजने का झांसा देकर नकली वीजा के जरिए करोड़ों रुपए की ठगी को अंजाम देता था. नकली वीजा बनाने वाला ये गिरोह अभी तक सैकड़ों लोगों को अपना शिकार बना चुका है.

आठ लोगों का यह गैंग अभी तक सैकड़ों नेपाली नागरिकों को विदेश भेजने का सपना दिखाकर करोड़ों रुपये की ठगी को अंजाम दे चुका है. दिल्ली क्राइम ब्रांच को नेपाल एम्बेसी के अधिकारियों की तरफ से शिकायत मिली कि एक गिरोह नेपाली नागरिकों से करोड़ों की ठगी को अंजाम दे रहा है.

नकली वीजा बनाने वाले इस गिरोह का सरगना जितेंद्र मंडल नेपाल का रहने वाला है. वो नेपाल के नागरिकों को विदेश भेजने का झांसा देकर भारत बुलाता था.

इस गिरोह के हर सदस्य का काम अलग-अलग होता था. दिल्ली क्राइम ब्रांच के मुताबिक अभी तक इस गिरोह के पास से सैकड़ों नकली वीजा बरामद किए जा चुके हैं. साथ ही तमाम मशीन भी बरामद की गई हैं, जिसकी मदद से ये फर्जी वीजा बनाया करते थे.

ये गिरोह इतना शातिर था कि इसका एक सदस्य पीड़ित के मोबाइल पर नकली वीजा की फोटो भेजकर तय किए गए पूरे पैसे वसूल लेता था. ये गिरोह नेपाली नागरिकों को फर्जी वीजा के साथ-साथ फर्जी पासपोर्ट भी बनाकर देता था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें