scorecardresearch
 

नौकरी का झांसा देने वाले 10 हाईटेक ठग चढ़े पुलिस के हत्थे

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में पुलिस ने 10 ऐसे हाईटेक शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है, जो बेरोजगारों को नौकरी देने में नाम पर ठगी किया करते थे. पुलिस ने इनके कब्जे से 16 मोबाइल, 3 लैपटॉप, 1 स्वैप मशीन, फर्जी प्रमाण पत्र और कई दस्तावेज बरामद किए हैं. शातिर ठग पोस्ट और विज्ञापन के जरिए इश्तेहार देकर ठगी किया करते थे.

दिल्ली से सटे गाजियाबाद की घटना दिल्ली से सटे गाजियाबाद की घटना

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में पुलिस ने 10 ऐसे हाईटेक शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है, जो बेरोजगारों को नौकरी देने में नाम पर ठगी किया करते थे. पुलिस ने इनके कब्जे से 16 मोबाइल, 3 लैपटॉप, 1 स्वैप मशीन, फर्जी प्रमाण पत्र और कई दस्तावेज बरामद किए हैं. शातिर ठग पोस्ट और विज्ञापन के जरिए इश्तेहार देकर ठगी किया करते थे.

इस गिरोह का सरगना अनिल राजपूत है, जो बीटेक कर चुका है. ये लोग देश के तमाम इलाकों में न्यूज पेपर में नौकरी का ऐड दिया करते थे. जो इनके झांसे में आ जाए, उन्हें ये अपना शिकार बना लेते. इन ठगों ने अपना ठिकाना गाजियाबाद के साहिबाबाद के पास राजेंद्र नगर में बना रखा था. पुलिस इनको वहीं से गिरफ्तार किया है. पूछताछ की जा रही है.

पुलिस ने इनके ठगने का जो तरीका बताया वो बेहद शातिराना और हैरान करने वाला था. ये लोग शिकार को जाल में फंसाने के लिए साहिबाबाद, गाजियाबाद, नोएडा, दिल्ली और राजस्थान कई जगहों पर फर्जी दफ्तर खोलते थे. नौकरी के इस्तेहार देकर विज्ञापन छपवाते थे. उसमें इनका एक नंबर होता था. इश्तेहार देखकर बेरोजगार इन्हें फोन करता और फंस जाता.

पुलिस के मुताबिक, अब तक इन लोगों ने सैकड़ों बेरोजगार लोगों को अपना शिकार बनाया है. ये जिस शहर में भी अपना फर्जी ऑफिस खोलते वहां जैसे ही कुछ लोग इनके झांसे में आते उनसे रजिस्ट्रेशन और ट्रेनिंग के नाम पर पैसे ठगने के बाद ऑफिस बंद कर फरार हो जाते. फिलहाल पुलिस इनके कारगुजारियों का हिसाब ले रही है. कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें