scorecardresearch
 

इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से सिक्योरिटी सिस्टम को फेल कर चोरी करते थे कार, गिरफ्तार

गैंग दिल्ली और एनसीआर में गाड़ियों को चोरी करते था. फिर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कार तमिलनाडु बेच दिया करते थे. पुलिस ने इस गैंग की चोरी की गई दो गाड़ियों को ट्रैक किया जिन्हें बाद में तमिलनाडु में बेच दिया गया.

गिरफ्तार आरोपी गिरफ्तार आरोपी

  • इलेक्ट्रॉनिक मशीन के जरिए करते थे सिक्योरिटी सिस्टम को फेल
  • फर्जी दस्तावेजों के आधार पर तमिलनाडु में बेचते थे गाड़ियां

गाजियाबाद पुलिस ने इंदिरापुरम इलाके से तीन शातिर चोरों को गिरफ्तार किया है. इनके पास से चोरी की 8 कारें बरामद हुई हैं. इनके पास से एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन भी रिकवर की गई है जिसके जरिए ये लोग कार के सिक्योरिटी सिस्टम को फेल करके कारों को चोरी करते थे.

ये गैंग दिल्ली और एनसीआर में गाड़ियों को चोरी करते था. फिर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कार तमिलनाडु बेच दिया करते थे. पुलिस ने इस गैंग की चोरी की गई दो गाड़ियों को ट्रैक किया जिसे बाद में तमिलनाडु में बेच दिया गया.

आरोपियों पर पहले से कई मुकदमे दर्ज

गिरफ्तार आरोपियों में से एक रोहताश उर्फ राजा है जिसके खिलाफ दिल्ली में 33 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं. इसके अलावा लल्लू भी इस गैंग का सदस्य है जो कि अलीगढ़ के एक विधायक के मर्डर केस में 2006 में जेल गया था. तीसरा गिरफ्तार बदमाश बन्ने है जो अलीगढ़ का रहने वाला है. 

इस पूरे मामले में एसपी सिटी ने बताया,  'पकड़े गए तीनों बड़े ही शातिर किस्म के अपराधी हैं. जो इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की मदद से लग्जरी गाड़ियों की ही चोरी किया करते थे. इन बदमाशों के कब्जे से 8 गाड़ियां बरामद की गईं हैं.

तमिलनाडु में बेचते थे चोरी की कारें

पकड़े गए बदमाशों ने पूछताछ में बताया कि यह गाड़ी चोरी कर तमिलनाडु में बेच दिया करते थे और बड़े आराम से वहां पर गाड़ियां चला करती हैं. इनमें एक अपराधी अलीगढ़ में एक विधायक की हत्या के मामले में भी नामजद था और जेल भी जा चुका है. साथ ही एक अपराधी ने बताया कि उसने 3 दर्जन के करीब गाड़ियों को चोरी किया है.

ये आरोपी एनसीआर में सार्वजनिक स्थानों पर खड़ी गाड़ियों को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की मदद से लॉक तोड़कर उन्हें लेकर फरार हो जाया करते थे. अभी पकड़े गए तीनों शातिर बदमाशों से पूछताछ की जा रही है कि उनका तमिलनाडु में किस गैंग से संबंध है. साथ गाड़ियों को किन-किन हालातों में बेचा करते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें