scorecardresearch
 

कहीं सियासी सरपरस्ती में तो नहीं बच रही है राम रहीम की हनीप्रीत?

राम रहीम की करीबी हनीप्रीत का अभी तक कुछ पता नहीं चला है. उस पर अभी तक रहस्य बरकार है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या राजनीतिक शह और सरकारी संरक्षण में ही वह लगातार गिरफ्तारी से बच रही है? हनीप्रीत जहां भी जा रही है, उसके आसपास कुछ कमांडो भी दिखाई दे रहे हैं. यह साफ नहीं है कि ये कमांडो राम रहीम के हैं या फिर सरकारी, लेकिन ये तो तय है कि कोई शातिर दिमाग ही हनीप्रीत को पुलिस की गिरफ्तारी से बचा रहा है.

राम रहीम की करीबी हनीप्रीत राम रहीम की करीबी हनीप्रीत

राम रहीम की करीबी हनीप्रीत का अभी तक कुछ पता नहीं चला है. उस पर अभी तक रहस्य बरकार है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या राजनीतिक शह और सरकारी संरक्षण में ही वह लगातार गिरफ्तारी से बच रही है? हनीप्रीत जहां भी जा रही है, उसके आसपास कुछ कमांडो भी दिखाई दे रहे हैं. यह साफ नहीं है कि ये कमांडो राम रहीम के हैं या फिर सरकारी, लेकिन ये तो तय है कि कोई शातिर दिमाग ही हनीप्रीत को पुलिस की गिरफ्तारी से बचा रहा है.

राम रहीम को 25 अगस्त को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला कोर्ट से भगाने की साजिश रचने के आरोप में हरियाणा पुलिस ने अब तक पंजाब पुलिस के 8, हरियाणा पुलिस के 3 और राजस्थान पुलिस के 1 जवान को गिरफ्तार किया है. ये तमाम जवान इन तीनों ही राज्यों की पुलिस से जुड़े हैं. राम रहीम को बतौर सिक्योरिटी के तौर पर इनकी तैनाती की गई थी. ऐसे में समझा जा सकता है कि हनीप्रीत को शह देने के पीछे भी इनका हाथ हो सकता है.

जानकारी के मुताबिक, हनीप्रीत जहां-जहां छिप रही है वहां पर उसके आसपास कुछ कमांडो होने की बात कही जा रही है. हनीप्रीत जब राजस्थान के हनुमानगढ़ में 28 और 29 अगस्त की रात को अपने रिश्तेदार के घर पर रुकी थी, तो इस दौरान उसके आसपास कुछ कमांडो मौजूद थे. यह दावा खुद उसी रिश्तेदार ने किया, जिनके वहां हनीप्रीत ने पनाह लिया था. हनीप्रीत के आसपास मौजूद ये हथियारबंद लोग कौन हैं, ये बात अभी तक साफ नहीं हुई है.

हनीप्रीत की तलाश में जिस वक्त हरियाणा पुलिस ने राजस्थान में राम रहीम के पैतृक गांव गुरुसर मोडिया में रेड की थी. उस दौरान राम रहीम का समधि हरमिंदर सिंह जस्सी वहां मौजूद था. हरमिंदर पंजाब का पूर्व मंत्री और कांग्रेस का सीनियर लीडर है. उसे मिली सिक्योरिटी के जवान गांव के बाहर एक ढाबे पर बैठकर उसके लौटने का इंतजार कर रहे थे. ऐसे में सवाल ये उठता है कि जिस वक्त पुलिस कार्यवाही हो रही थी, उस वक्त जस्सी क्या कर रहा था.

हरियाणा के डीजीपी भी साफ कर चुके हैं कि इस मामले में हरमिंदर सिंह जस्सी से जल्द ही पूछताछ की जा सकती है. इसी वजह से ये सवाल उठ रहा है कि कहीं राम रहीम का पॉवरफुल राजनीतिक समधि हरमिंदर सिंह जस्सी ही तो नहीं हनीप्रीत को बचाने के लिए खुद को मिली सरकारी सिक्योरिटी का इस्तेमाल कर रहा है? कहीं उसने ही हनीप्रीत को तो नहीं छिपा कर रखा हुआ है? ऐसे में शक है कि हनीप्रीत को बचाने के पीछे कोई बड़ा शातिर दिमाग है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें