scorecardresearch
 

जीबी रोड के कोठों पर चस्पा नोटिस, दहशत में सेक्स वर्कर

दिल्ली महिला आयोग ने जीबी रोड के कोठों को नोटिस जारी किया है. नोटिस के अनुसार जो कोठा मालिक महिला आयोग में हाजिर नहीं होगा उसका कोठा सील कर दिया जाएगा. इसके बाद वहां काम कर रहीं सेक्स वर्कर काफी परेशान हैं. इस मामले में सेक्स वर्कर्स का प्रतिनिधि मंडल एक केंद्रीय मंत्री से भी मिल चुका है.

दिल्ली के जीबी रोड इलाके में आयोग की कार्यवाही दिल्ली के जीबी रोड इलाके में आयोग की कार्यवाही

दिल्ली महिला आयोग ने जीबी रोड के कोठों को नोटिस जारी किया है. नोटिस के अनुसार जो कोठा मालिक महिला आयोग में हाजिर नहीं होगा उसका कोठा सील कर दिया जाएगा. इसके बाद वहां काम कर रहीं सेक्स वर्कर काफी परेशान हैं. इस मामले में सेक्स वर्कर्स का प्रतिनिधि मंडल एक केंद्रीय मंत्री से भी मिल चुका है.

जानकारी के मुताबिक, जीबी रोड पर लगभग 5 हजार सेक्स वर्कर काम करती हैं. बीते दिनों महिला आयोग ने वहां एक नोटिस जारी किया था, जिसमें कोठे मलिकों को महिला आयोग में पेश होने के लिए कहा गया. यदि कोई पेश नहीं होता है तो उसका कोठा सील कर दिया जाएगा. इसके बाद सेक्स वर्कर्स में खौफ का माहौल है.

सेक्स वर्कर्स के मुताबिक, कई कोठों का कोई मालिक या मालकिन नहीं हैं. वे अपनी मर्जी से इन कोठों पर आती-जाती हैं और उस जगह का किराया चुकाती हैं. ऐसे में यदि कोठे सील कर दिए गए तो वे अपना पालन पोषण कैसे करेंगी. महिला आयोग उनके रिहैबिटेशन के लिए बड़े-बड़े सपने तो दिखाता है, लेकिन बाद में सब भूल जाते हैं.

हर बार महिला आयोग की तलवार उनके भविष्य पर लटकी रहती है. कई सेक्स वर्कर की उम्र बुढ़ापे की दहलीज पर है. सरकार की ओर से उन्हें किसी तरह की मदद नहीं मिलती. हाल में ही इन सेक्स वर्करों ने दिल्ली के सांसद और मंत्री डा. हर्षवर्धन से मुलाकात की थी. इनकी समस्या को मंत्री मेनका गांधी के पास भेज दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें