scorecardresearch
 

मुख्य सचिव की पिटाई में केजरीवाल-सिसोदिया समेत 11 विधायकों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

मेडिकल रिपोर्ट में भी मुख्य सचिव से मारपीट की पुष्टि हुई थी. यह मामला PMO तक पहुंचा था. IAS एसोसिएशन ने राष्ट्रपति से गुहार लगाई थी.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मुख्य सचिव अंशु प्रकाश (फाइल फोटो) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मुख्य सचिव अंशु प्रकाश (फाइल फोटो)

राजधानी दिल्ली में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है. सोमवार को दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की, इसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को आरोपी बनाया गया है. केजरीवाल-सिसोदिया के अलावा 11 विधायकों के नाम भी इस चार्जशीट में शामिल हैं.

गौरतलब है कि इस मुद्दे को लेकर काफी बवाल मचा था. दिल्ली के अफसर कई दिनों तक इस मसले पर हड़ताल पर बैठे हुए थे, जिसके कारण राजधानी में सरकार और ब्यूरोक्रेसी के बीच ठनी हुई थी. हालांकि, आरोप-प्रत्यारोप के लंबे दौर के बीच दोनों पक्ष  आपसी बातचीत से दोबारा काम पर लौटे थे.

क्या था मामला?

बताते चलें कि मुख्य सचिव अंशु प्रकाश 19 फरवरी की देर रात एक बैठक में शामिल होने के लिए मुख्यमंत्री आवास पर गए थे. आरोप है कि केजरीवाल के सामने AAP विधायकों ने उनके साथ मारपीट की थी.

केजरीवाल के घर पर हुए हंगामे के दौरान वहां मौजूद रहे पूर्व विधायक संजीव झा ने मुख्य सचिव के आरोपों को गलत बताया था. उनका कहना था कि महज 3 मिनट में उनके साथ मारपीट कैसे हो सकती है. उन्होंने कहा कि राशन के मसले पर चर्चा शुरू हुई थी, लेकिन बातचीत सुनने की बजाए चीफ सेक्रेटरी ने कहा कि वह उनके प्रति जवाबदेह नहीं हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें