scorecardresearch
 

भैंसों की खोज में लगी दिल्ली पुलिस को मिली सफलता

बाहरी दिल्ली के अमन विहार में एक डेयरी से आठ भैंसों की चोरी के मामले में विशेष टीम ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि चोरों ने सभी भैंसों को स्लॉटर हाउस में कटवा दिया है. एक आम डेयरी मालिक की आठ भैंसों और एक भैंस के बच्चे की चोरी के केस पर खुद दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी की नजर थी.

भैंसों की चोरी के मामले में विशेष टीम ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. भैंसों की चोरी के मामले में विशेष टीम ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

बाहरी दिल्ली के अमन विहार में एक डेयरी से आठ भैंसों की चोरी के मामले में विशेष टीम ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि चोरों ने सभी भैंसों को स्लॉटर हाउस में कटवा दिया है. एक आम डेयरी मालिक की आठ भैंसों और एक भैंस के बच्चे की चोरी के केस पर खुद दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी की नजर थी.

कमिश्नर के आदेश पर ही दिल्ली पुलिस की एक विशेष टीम पिछले तीन महीनों से आरोपियों की तलाश में सरगर्मी से जुटी थी. पुलिस टीम न सिर्फ दिल्ली, बल्कि हरियाणा और उत्तर प्रदेश की भी खाक छान रही थी. भैंसों के मालिक सतीश को 100 से ज्यादा भैंसों के फोटो व्हाट्स एप के जरिए भेजकर पहचान कराने की कोशिश की गई थी.

एडिश्नल डीसीपी घनश्याम बंसल ने बताया कि पुलिस के लगातार कोशिश के बाद भी सफलता नहीं मिल रही थी. चोरों पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था. जब मोबाइल के डम्प डाटा से भी सफतलता नहीं मिली तो टीम पश्चिमी उत्तर प्रदेश भेजी गई. वहां पता लगा कि स्लॉटर हाउस में काम करने वाला मुज्जफरनगर का महबूब नांगलोई में रहता है.

इसके बाद पुलिस ने नांगलोई से ही महबूब को पकड़ लिया. उसके साथ तीन अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया. उन्होंने बताया कि वह चोरी की भैंसों को नांगलोई के एक स्लॉटर हाउस में कटवा चुके हैं. इसकी रिपोर्ट 15 मई को अमन विहार थाने में लिखी गई थी. डेयरी मालिक सतीश ने कमिश्नर से मिलकर गुहार लगाई थी कि उनकी भैंसें ही उनकी धन-संपत्ति थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें