scorecardresearch
 

चुनाव लड़ने को चाहिए थे पैसे, OLX पर कार बेचने के नाटक से ठगे 5 लाख रुपये

दिल्ली पुलिस ने दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने OLX वेबसाइट के जरिए फॉरच्यूनर कार बेचने के बहाने एक शख्स से 4.65 लाख रुपये लूट लिए.

पुलिस के शिकंजे में आरोपी (Photo- Aajtak) पुलिस के शिकंजे में आरोपी (Photo- Aajtak)

  • OLX वेबसाइट से धोखाधड़ी, आरोपी गिरफ्तार
  • कार बेचने के लिए पैसों के साथ बुलाया दिल्ली
  • डील के बाद पैसे व कार दोनों ले हो गए थे फरार

दिल्ली पुलिस ने महताब और अकीब नाम के दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने OLX वेबसाइट के जरिए फॉर्च्यूनर कार बेचने के बहाने एक शख्स से 4.65 लाख रुपये लूट लिए.

पुलिस के मुताबिक, शिकायतकर्ता सुल्तान ने बताया कि वह हैदराबाद से ग्रेजुएशन कर रहा है. वह OLX पर एक लग्जरी कार की तलाश कर रहा था. उसने बताया कि अगस्त 2019 में एक टोयोटा फॉर्च्यूनर कार का विज्ञापन olx पर आया, जिसकी कीमत 6 लाख बताई गई.

कार की डिलीवरी के लिए बुलाया दिल्ली

उसने कहा कि विज्ञापन में दिए गए नंबर पर वॉट्सऐप कॉल के जरिए महताब नाम के शख्स से संपर्क हुआ. बार्गेनिंग करने के बाद कीमत 4.65 लाख रुपये तय हुई. आरोपी ने शिकायतकर्ता को कार की डिलीवरी लेने के लिए पैसे के साथ दिल्ली में अजमेरी गेट आने को कहा.

3 सितंबर 2019 को शिकायतकर्ता अपने तीन भाइयों के साथ अजमेरी गेट, दिल्ली आया, जहां वो आरोपी और उसके दोस्तों से मिला. इसके बाद करीब 2.15 लाख रुपये नकद दिए और बकी रुपये भी ट्रांसफर कर दिए. गाड़ी की डिलीवरी के बारे में पूछने पर आरोपी महताब ने शिकायतकर्ता को बताया कि अगले दिन गाड़ी की एनओसी उसे मिल जाएगी.

आरोपी पैसे व कार ले हुए फरार

फिर महताब, शिकायतकर्ता और उसके भाइयों को पहाड़गंज इलाके के एक होटल में ले गया. हालांकि, 4 सितंबर की सुबह जब शिकायतकर्ता और उसके भाई सो रहे थे तब आरोपी व उसका दोस्त कार के साथ होटल से भाग गए. इसके बाद कमला मार्केट पुलिस स्टेशन में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया.

जांच के दौरान अजमेरी गेट और जिस होटल में वे रुके थे, वहां लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज लेकर जांच की गई, जिसमें दोनों आरोपी शख्स की फोटो पुलिस को मिली. जांच के बाद यह पता चला कि दोनों आरोपी मेरठ (यूपी) के निवासी हैं.

आरोपी गिरफ्तार, फॉर्च्यूनर कार भी जब्त

इसके बाद पुलिस टीम के एक सदस्य को उनके गांव में आरोपियों की पहचान की पुष्टि के लिए भेजा गया जहां पता चला कि वे वहीं हैं. इसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंच कर दोनों ही आरोपियों को उनके घरों से पकड़ लिया. साथ ही महताब के चाचा के नाम पर पंजीकृत फॉर्च्यूनर कार को भी जब्त कर लिया गया.

दोनों आरोपी व्यक्तियों से लगातार पूछताछ की जा रही थी, जिसमें उन्होंने खुलासा किया कि वे मेरठ में कृषि कार्य में लगे थे. वे पंचायत चुनाव लड़ना चाहते हैं, जिसके लिए उन्हें पैसे की जरूरत थी. हालांकि, कृषि से उनकी आय पर्याप्त नहीं थी. इसलिए वे आसानी से पैसे कमाने की खोज रहे थे. इस बीच महताब के चाचा ने उन्हें बताया कि वह अपनी फॉर्च्यूनर कार बेचना चाहते हैं और उनसे एक उपयुक्त खरीदार की जरूरत है.

न्यायिक हिरासत में दोनों आरोपी

आरोपियों ने इसे चुनाव लड़ने के लिए मोटी रकम कमाने के मौके के रूप में लिया. उन्होंने कार की तस्वीरों को ओएलएक्स वेबसाइट पर अपलोड किया और कार की बिक्री के लिए बहुत सस्ती राशि भी रखी. जैसा कि शिकायतकर्ता ने कार खरीदने के लिए अपनी रुचि दिखाई, उन्होंने उन्हें अपनी योजना के तहत दिल्ली बुलाया और पूरी राशि प्राप्त करने के बाद अगले दिन कार देने का नाटक किया और एक होटल में शिकायतकर्ता के साथ खाना खाने के बाद वे घंटों में वहां से भाग निकलें. दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें