scorecardresearch
 

दिल्ली: 100 वारदातों को अंजाम दे चुके शातिर लिफाफा गैंग का पर्दाफाश

इस गैंग ने 15 दिसंबर को हरिद्वार जा रहे गुरुग्राम निवासी सुनील भट्ट को भी लिफ्ट दी थी और बाद में उनकी हत्या कर दी थी. हत्या के बाद सुनील के ATM से बदमाशों ने रुपये निकाल लिए और जमकर शॉपिंग भी की.

X
सस्ते किराए का लालच दे सवारियों को बिठा लूट लेता है यह गैंग
सस्ते किराए का लालच दे सवारियों को बिठा लूट लेता है यह गैंग

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली एनसीआर में काफी समय से सक्रिय बेहद शातिर लिफाफा गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. पुलिस के मुताबिक, यह गैंग दिल्ली-एनसीआर में अब तक 100 से अधिक वारदातों को अंजाम दे चुका है.

पुलिस ने बताया कि सस्ते किराए का लालच देकर यह गैंग अपने शिकार को लिफ्ट देता था, फिर किसी सूनसान जगह ले जाकर उन्हें लूट लेता था. कई बार तो ये बदमाश अपने शिकार का कत्ल तक कर देते थे.

पुलिस ने बताया कि इस गैंग ने 15 दिसंबर को हरिद्वार जा रहे गुरुग्राम निवासी सुनील भट्ट को भी लिफ्ट दी थी और बाद में उनकी हत्या कर दी थी. हत्या के बाद सुनील के ATM से बदमाशों ने रुपये निकाल लिए और जमकर शॉपिंग भी की.

सुनील की लाश दिल्ली कैंट इलाके में जंगल में फेंका मिला थ. पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशों के पास से दो कार, एक स्कूटी और मोबाइल भी जब्त किए हैं. गैंग का मास्टरमाइंड आरिफ भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस पूछताछ में बदमाशों ने सुनील की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है. पुलिस को दिए बयान के मुताबिक, उन्होंने सुनील को चलती गाड़ी में मफलर से गला घोंट कर सुनील की हत्या की थी.

कैंट पुलिस ने बदमाशों की धर-पकड़ के लिए उन शॉपिंग मॉल्स के और एटीएम बूथ के CCTV फुटेज खंगाले, जहां बदमाशों ने सुनील के ATM का उपयोग कर खरीदारी की थी और रुपये निकाले थे.

इसके बाद सुनील के मोबाइल की लोकेशन भी ट्रेस की गई. सुनील के हत्यारे तो गिरफ्तार हो गए, लेकिन जब तमाम वारदातें परत दर परत खुलीं तो पुलिस भी चौंक गई. गिरफ्तार किए गए अपराधी तो वारदातों की सेंचुरी बना चुके थे.

गैंग के मास्टरमाइंड आरिफ ने साथी अजय निर्मल प्रताप के साथ ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम दिया. यह गैंग दिल्ली एनसीआर में लिफाफा गैंग के नाम से भी मशहूर है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें