scorecardresearch
 

दिल्ली: थैलियम से ले ली सास की जान, पत्नी कोमा में...सद्दाम हुसैन की किताब से लिया आइडिया

दिल्ली के कारोबारी ने अपनी सास, और अपनी पत्नी को निपटाने के लिए मछलियों के साथ थैलियम खिला दिया. इसे खाने के करीब 15 दिन बाद उसकी साली की मौत हो गई. इसके बाद 21 मार्च को ही उसकी सास की भी मौत हो गई है जबकि पत्नी पिछले दिनों से कोमा में चल रही है और एक अस्पताल के ICU में भर्ती है.

सबसे लेफ्ट में सास अनीता, बीच मे पत्नी दिव्या, सबसे राईट में साली प्रियंका सबसे लेफ्ट में सास अनीता, बीच मे पत्नी दिव्या, सबसे राईट में साली प्रियंका
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सद्दाम हुसैन के बारे में पढ़ा था कारोबारी ने
  • थैलियम देकर धीमी मौत मारता था सद्दाम
  • पुलिस ने जांच की तो हुआ खुलासा
  • सास और साली की हो चुकी है मौत, पत्नी कोमा में

दिल्ली के एक रियल एस्टेट कारोबारी वरुण अरोड़ा ने इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन को लेकर इंटरनेट पर पढ़ा कि वो किस तरह अपने राजनीतिक विरोधियों को मारने के लिए थैलियम नामक विषाक्त पदार्थ का उपयोग करता था. इसी आइडिया पर दिल्ली के इस कारोबारी ने अपनी सास, और अपनी पत्नी को निपटाने का प्लान बना लिया. इसने फरवरी महीने में अपनी सास, ससुर, साली और पत्नी को मछलियों के साथ थैलियम खिला दिया. इसके बाद हाल ही में उसकी सास की मृत्यु हो गई और उसकी पत्नी कोमा में चल रही है जबकि साली की भी इसी दौरान मौत हो गई.

इस मामले का पता तब लगा जब इस हैरतअंगेज साजिश को अंजाम देने वाले कारोबारी के ससुर और होमियोपैथी दवाओं के निर्माता, देवेन्द्र मोहन शर्मा पुलिस के पास पहुंच गए और कहा कि उनकी पत्नी अनीता शर्मा की गंगा राम अस्पताल में मृत्यु हो गई है जिसकी हत्या के लिए उन्हें अपने दामाद वरुण अरोरा पर संदेह है. ससुर ने फरवरी महीने की उस घटना का जिक्र भी किया जब आरोपी वरुण ने पूरे परिवार को मछलियां बनाकर खिलाई थी लेकिन अपने बच्चों को नहीं खिलाई थी न खुद खाई थी. इसी खाने में उसने विषाक्त पदार्थ मिलाया था.

पुलिस ने जब मृतक सास का पोस्टमार्टम कराया तो मृतक महिला के शरीर में थैलियम की भारी मात्रा मिली. इसके बाद पुलिस ने आरोपी की पत्नी का भी मेडिकल कराया जो कोमा में चल रही है. आरोपी की पत्नी के शरीर में भी थैलियम की अत्यधिक मात्रा निकली है. इसके बाद पुलिस ने आरोपी के लैपटॉप और सिस्टम को अपने कब्जे में लेकर जांच की, जिसमें पुलिस को उसकी इंटरनेट हिस्ट्री में सद्दाम हुसैन से संबंधित कंटेंट मिला जिसमें उसने पढ़ा था कि किस तरह सद्दाम हुसैन अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदियों से निपटने के लिए थैलियम का उपयोग करता था. फिलहाल पुलिस ने आरोपी कारोबारी वरुण अरोड़ा को गिरफ्तार कर लिया है.

शिकायतकर्ता देवेंद्र मोहन शर्मा ने पुलिस को बताया कि वो 3 इंद्रपुरी में परिवार के साथ रहते हैं. उनकी होम्योपैथिक मैडिसन की फैक्ट्री नारायणा इंडस्ट्रियल क्षेत्र में है. परिवार मे दो बेटियां व उनकी पत्नी थी. आरोपी की साली और उनकी बेटी यानी प्रियंका शर्मा (आयु 27 वर्ष) की 15 फरवरी, 2021 को मौत हो चुकी है. वहीं 21 मार्च को पत्नी अनीता शर्मा की भी मौत हो चुकी है. जबकि बड़ी बेटी दिव्या गंगा राम अस्पताल के ICU में 4 मार्च 2021 से एडमिट है.

बड़ी बेटी दिव्या की शादी 28 फरवरी, 2009 को वरुण अरोरा नाम के शख्स से हुई थी. जिसको IVF से दो जुड़वा बच्चे पैदा हुए, जिनमें एक लड़का है और एक लड़की है. दोनों की आयु फिलहाल लगभग 4.5 वर्ष है. वरुण के पिता की मौत फरवरी 2020 को हो गई थी. शर्मा ने बताया कि उनका दामाद गुस्सेल स्वभाव का है और शादी के कुछ महीने बाद से ही दिव्या के साथ गाली गलोच और बुरा व्यवहार करने लगा था. पिछले साल दिव्या दोबारा गर्भवती हो गई थी तो दामाद वरुण ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि मेरे पिता वापस घर में आ रहे हैं. जब वरुण दिव्या को लेकर डॉक्टर के पास गया तब डॉक्टर ने कहा कि दिव्या की जान को खतरा है. अगर दिव्या ने बच्चे को जन्म दिया तो दिव्या की मौत हो सकती है.

दिव्या ने वरुण से कहा कि मेरी जान को खतरा है मैं बच्चा पैदा नहीं करूंगी. इस पर वरुण व उसकी मां जिया अरोड़ा ने काफी झगड़ा किया. किंतु दिव्या ने एबॉर्शन करा दिया और जिसके बाद लगातार वरुण और उसका परिवार दिव्या को प्रताड़ित करने लगा.

शर्मा ने आगे बताया ''31 जनवरी को दिव्या मेरे घर इंद्रपुरी आई हुई थी, तभी दामाद वरुण का बेटी दिव्या के फोन पर एक कॉल आया. वरुण ने कहा कि आज वो अपने घर से सब के लिए स्पेशल फिश बनाकर ला रहा है. दिव्या ने ऐसा करने से मना किया लेकिन वरुण जोर देकर कहता रहा कि मैं आज स्पेशल फिश बनाकर ला रहा हूं. दिन में करीब 3-3.30 बजे वरुण घर आ गया और कुछ देर बाद उसने पूरे परिवार को फिश खिलाई. लेकिन अपने दोनों बच्चों को फिश नहीं खिलाई. और खुद भी नहीं खाई ये कहकर कि उसके दांतों में दर्द है.

शर्मा ने पुलिस को बताया ''करीब 8.30 बजे वरुण अपनी पत्नि दिव्या व बच्चो को लेकर अपने घर चला गया. अगले ही दिन 1 फरवरी को प्रियंका की तबियत खराब होने लगी और हमने 2 फरवरी 2021 को APOLLO क्रेडल अस्पताल मे टेस्ट कराए. लेकिन प्रियंका की तबियत और ज्यादा खराब होने लगी. 3 फरवरी को प्रियंका को BLK अस्पताल में दाखिल करा दिया गया. जहां उसका इलाज चलता रहा लेकिन 15 फरवरी को प्रियंका की अस्पताल में ही मौत हो गई.

''3 मार्च को मेरी बेटी और वरुण की पत्नी दिव्या की तबियत भी ज्यादा खराब होने लगी. अगले दिन वरुण दिव्या को गाड़ी की पिछली सीट पर लेटाकर इंद्रपुरी हमारे घर ले आया. जहां से हम तुरंत दिव्या को गंगा राम अस्पताल ले गये और उसे दाखिल करा दिया, वो आज तक ICU में ही दाखिल है. इस दौरान मेरी पत्नी की तबियत भी खराब हो गई, उसे भी मैं गंगाराम अस्पताल ले गया और भर्ती करा दिया.''

''मेरी पत्नी अनीता शर्मा व बेटी दिव्या के ब्लड टेस्ट में थैलियम विषाक्त जहर पाया गया है. डॉक्टर ने मुझे बताया कि इन्हें काफी मात्रा में विषाक्त पदार्थ दिया गया है. इलाज के दौरान 21 मार्च को मेरी पत्नी की भी मौत हो गई. इस बीच मुझे भी पैरो में दर्द होने लग गया और सर से बाल झड़ने लग गए हैं. मेरे भी ब्लड टेस्ट में थैलियम की मात्रा पाई गई है.'

देवेन्द्र मोहन शर्मा ने पुलिस को बताया कि उनके दामाद ने ही उन्हें और उनके पूरे परिवार 'स्पेशल फिश' में थैलियम मिलाकर खिलाई है. जिससे उनकी पत्नी और एक बेटी की मौत हो चुकी है जबकि एक बेटी कोमा में है.

क्या होता है थैलियम?
थैलियम एक अत्यधिक जहरीला धातु रासायनिक तत्व है. इसकी खोज अंग्रेज वैज्ञानिक विलियम क्रुक्स ने 19वीं शताब्दी में एक विशेष सेलेनियम युक्त पायराइट में वर्णक्रममापी उपकरण द्वारा की थी. थैलियम का उपयोग कीट और चूहे के जहर के रूप में किया जाता था, क्योंकि इसकी विषाक्तता थी लेकिन इंसान को जोखिम के कारण इसके उपयोग को रोक दिया गया. किसी की जान लेने के लिए इसकी एक छोटी सी मात्रा का इस्तेमाल ही काफी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें