scorecardresearch
 

स्वाति मालीवाल को ट्विटर पर मिली जान से मारने की धमकी, दिल्ली पुलिस से मांगी मदद

स्वाति मालीवाल ने अपनी चिट्ठी में उस ट्विटर हैंडल का जिक्र भी किया है जिससे उन्हें जान से मारने की धमकियां दी गई हैं. इसके साथ ही उन्होंने सबूत के तौर पर ट्वीट के स्कीनशॉट भी साइबर सेल को दिए हैं.

दिल्ली महिला आयोग की चेयरमैन हैं स्वाति मालीवाल (फाइल फोटो: PTI) दिल्ली महिला आयोग की चेयरमैन हैं स्वाति मालीवाल (फाइल फोटो: PTI)

  • स्वाति मालीवाल ने साइबर सेल में दर्ज कराई अपनी शिकायत
  • ट्विटर पर स्वाति मालीवाल को जान से मारने की धमकी मिली

कोरोना से बचने के लिए लगाए गए लॉकडाउन की वजह से लोग अपने घरों में कैद हैं. लेकिन अपराधी बाज आने का नाम नहीं ले रहे हैं. संगीन अपराधों की जगह इन दिनों साइबर अपराध भी काफी नजर आ रहे हैं. इसी क्रम में दिल्ली महिला आयोग की चेयरमैन स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को एक शिकायत दी है कि उन्हें माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर एक अकाउंट के द्वारा जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं.

ट्विटर पर मिली धमकी को डीसीडब्ल्यू चीफ ने गंभीरता से लिया. यही वजह है कि उन्होंने दिल्ली पुलिस की साइबर सेल में इसकी शिकायत भी दर्ज कराई है. इसके साथ ही स्वाति मालीवाल ने साइबर सेल के डीसीपी को शिकायत देकर कहा है कि बॉयज लॉकर रूम मामले और सफुरा जरगर मामले में आवाज उठाने पर उन्हें एक ट्विटर अकाउंट से गंदी भाषा में धमकियां दी गई हैं.

dcw_050820051326.jpgस्वाति मालीवाल की चिट्ठी

स्वाति मालीवाल ने अपनी चिट्ठी में उस ट्विटर हैंडल का जिक्र भी किया है जिससे उन्हें जान से मारने की धमकियां दी गई हैं. इसके साथ ही उन्होंने सबूत के तौर पर ट्वीट के स्कीनशॉट भी साइबर सेल को दिए हैं.

यह भी पढ़ें: बॉयज लॉकर रूम केस में आईटी एक्ट की इन धाराओं के तहत हो रही है कार्रवाई

बॉयज लॉकर ग्रुप का एडमिन हो चुका है गिरफ्तार

इंस्टाग्राम पर चैट ग्रुप बनाकर अश्लील बातें करने वाले बॉयज लॉकर रूम के जिस एडमिन को गिरफ्तार किया गया है वो नोएडा के नामी स्कूल का छात्र है. साइबर सेल के सूत्रों के मुताबिक, आरोपी छात्र ने पूछताछ में बताया कि उसने अपने 4 दोस्तों के साथ मिलकर इस ग्रुप की शुरुआत थी.

यह भी पढ़ें: ऐसे खुला बैड बॉयज के लॉकर रूम का ताला, हुआ अश्लील हरकतों का भंडाफोड़

साइबर सेल ग्रुप के 27 लोगों की पहचान कर चुकी है. वहीं, 11 लोगों के मोबाइल जब्त किए गए हैं. इस ग्रुप में दिल्ली और नोएडा के स्टूडेंट्स का पता चला है. साइबर सेल ने इंस्टाग्राम से इस ग्रुप की पूरी डिटेल मांगी है क्योंकि ग्रुप की चैट वायरल होने के बाद ग्रुप को डिलीट कर दिया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें