scorecardresearch
 

निर्भया गैंगरेप के दोषी ने कहा- दया याचिका वापस करें राष्ट्रपति

निर्भया गैंगरेप के दोषी विनय शर्मा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से दया याचिका को तत्काल वापस करने को कहा है. निर्भया के दोषी ने यह भी दावा किया कि राष्ट्रपति को भेजी गई दया याचिका में उसके हस्ताक्षर नहीं हैं.

निर्भया गैंगरेप के दोषी निर्भया गैंगरेप के दोषी

  • निर्भया के दोषी ने कहा- दया याचिका में नहीं किया हस्ताक्षर
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास लंबित है दया याचिका

दिल्ली में साल 2012 में हुए निर्भया गैंगरेप के दोषियों में से एक विनय शर्मा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से दया याचिका को तत्काल वापस करने को कहा है. निर्भयाकांड के दोषी विनय शर्मा का कहना है कि गृह मंत्रालय द्वारा राष्ट्रपति रामनााथ कोविंद को भेजी गई दया याचिका में उसने हस्ताक्षर नहीं किए थे.

निर्भया के दोषियों को निचली अदालत ने फांसी की सजा सुनाई थी, जिसके बाद मामले की हाईकोर्ट में अपील की थी. हाईकोर्ट ने भी निचली अदालत के फैसले को सही ठहराते हुए निर्भया के दोषियों की सजा को बरकरार रखा था. इसके बाद इन दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट में मामले की अपील की थी, लेकिन शीर्ष अदालत ने भी निर्भया के दरिंदों को किसी भी तरह की कोई राहत नहीं दी थी.

इसे भी पढ़िए: अगर देरी हुई, तो फांसी से बच सकते हैं निर्भया कांड के दोषी

जब सुप्रीम कोर्ट ने निर्भयाकांड के दोषियों की फांसी की सजा की पुष्टि कर दी, तो मामले में दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेजी गई. इससे पहले दिल्ली सरकार ने अपनी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेजी थी और निर्भया के दोषियों की दया याचिका करने की मांग की थी.

दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के बाद गृह मंत्रालय ने निर्भया के दोषियों की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भेजा है. अभी तक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस दया याचिका पर कोई फैसला नहीं लिया है. वहीं, निर्भया के माता-पिता ने सभी दोषियों को जल्द से जल्द फांसी में लटकाने की मांग की है. उन्होंने राष्ट्रपति को खत लिखकर निर्भया के दोषियों की दया याचिका खारिज करने की अपील की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें