scorecardresearch
 

जयपुर में सांप्रदायिक बवाल, 9 पुलिसकर्मियों समेत 24 घायल, इंटरनेट बंद

जयपुर में सोमवार की रात दो समुदाय आमने-सामने आ गए. दोनों तरफ से जमकर ईंट-पत्थर चले. सांप्रदायिक बवाल की इस घटना में 9 पुलिसकर्मियों समेत दोनों ही पक्ष के कुल 24 लोगों के घायल होने की खबर है.

प्रतीकात्मक चित्र (फोटोः India Today) प्रतीकात्मक चित्र (फोटोः India Today)

जयपुर में सोमवार की रात दो समुदाय आमने-सामने आ गए. दोनों तरफ से जमकर ईंट-पत्थर चले. सांप्रदायिक बवाल की इस घटना में 9 पुलिसकर्मियों समेत दोनों ही पक्ष के कुल 24 लोगों के घायल होने की खबर है.

समाचार एजेंसी पीटीआई की खबर के अनुसार बवाल के बाद एहतियातन 10 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा बुधवार की रात तक के लिए निलंबित कर दी गई है और पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यह बवाल उस समय भड़का, जब एक पक्ष के लोग गाल्टा गेट के समीप दिल्ली हाईवे जाम कर रहे थे. इसी बीच हरिद्वार से चलने वाली एक बस पर किसी ने पत्थरबाजी कर दी. इस घटना में कुछ बस यात्रियों के चोटिल होने के बाद एक अफवाह उड़ी और दूसरे संप्रदाय के लोग भी सड़क पर उतर आए.

देखते ही देखते दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस को भी भीड़ ने नहीं बख्शा. पुलिसकर्मियों पर भी हमला किया गया. पुलिस के अनुसार उत्तेजित भीड़ ने लगभग आधा दर्जन कारों के शीशे टूट गए, वहीं एक दोपहिया वाहन भी क्षतिग्रस्त हुआ है.

पुलिस के अनुसार तनाव की शुरुआत रविवार को हुई थी, जब कथित रूप से एक संप्रदाय की धार्मिक यात्रा में जा रहे यात्रियों के साथ दूसरे धर्म के लोगों ने गाल्टा गेट के समीप गलत बर्ताव किया था.

एडिशनल पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों पर सरकारी कर्मचारियों के कार्यों में बाधा डालने, राष्ट्रीय राजमार्ग अवरुद्ध करने और पुलिस पर हमला करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है.

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले तीन चिन्हित

एडिशनल पुलिस कमिश्नर (प्रथम) संतोष चाके ने बताया कि सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले तीन व्यक्तियों को चिन्हित किया गया है. इन लोगों ने ऐसी घटना की अफवाह फैलाई, जो हुई ही नहीं थी. वहीं एसीपी लांबा ने कहा कि अतिरिक्त पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है. मंगलवार को किसी घटना की खबर नहीं मिली.

उन्होंने कहा कि प्रभावित क्षेत्र में पुलिस ने फ्लैग मार्च किया और दोनों समुदायों के लोगों की शांति बैठक कराई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें