scorecardresearch
 

लव, सेक्स, धोखा और ब्लैकमेलिंग के कॉकटेल में तबाह हो गई जिंदगी!

देश की राजधानी दिल्ली में शाम की भीड़भाड़ और चहल-पहल के बीच सड़क पर चलती गाड़ी में एक महिला की कनपटी पर गोली मार दी जाती है. इसके बाद लाश में बदल चुकी उस महिला के साथ गाड़ी का ड्राइवर या कहें कि उस महिला का पुराना प्रेमी आधे घंटे से ज्यादा समय तक गाड़ी दौड़ाता है.

X
सात साल पुरानी दोस्त को सुलाया मौत की नींद सात साल पुरानी दोस्त को सुलाया मौत की नींद

देश की राजधानी दिल्ली में शाम की भीड़भाड़ और चहल-पहल के बीच सड़क पर चलती गाड़ी में एक महिला की कनपटी पर गोली मार दी जाती है. इसके बाद लाश में बदल चुकी उस महिला के साथ गाड़ी का ड्राइवर या कहें कि उस महिला का पुराना प्रेमी आधे घंटे से ज्यादा समय तक गाड़ी दौड़ाता है. उसे जब पुलिस पकड़ती है तो कहता है कि इसने खुदकुशी कर ली है. लेकिन सच्चाई खुलती है तो नापाक रिश्तों के कई सच उजागर होते हैं. इसे सुनकर पुलिस भी दंग रह जाती है.

तारीख: 10 मई 2016
दिन: मंगलवार
समय: शाम 7 बजे
स्थान: बोंटा पार्क, दिल्ली

यहां एक बड़ी सी गाड़ी रुकी और तभी पिस्तौल चलने की एक आवाज गूंजी. लेकिन शहर की ट्रैफिक और घर लौटने की लोगों की आपाधापी में शायद उसका शोर गुम गया. पिस्तौल से गोली निकल चुकी थी. इसकी शिकार अंजलि नामक वह महिला बनी चुकी थी. सफेद रंग की डीएल 8सी एके 8261 नंबर की इको स्पोर्ट्स गाड़ी अब भी सड़क पर दौड़ रही थी. अब गाड़ी में सिर्फ ड्राइव कर रहा शख्स बचा था. उसकी बगल की सीट पर बैठी अंजलि की जान देसी पिस्तौल से निकली एक गोली ले चुकी थी.

अंजलि की सीट बेल्ट बंधी थी लेकिन उसकी दाहिनी कनपटी पर लगी गोली से निकले खून के धब्बे उसकी सीट और अगल बगल फैल चुके थे. ड्राइव कर रहा नवीन इसके बाद भी गाड़ी चलाता जा रहा था. एक लाश के साथ 35 मिनट तक दिल्ली की सड़कों पर नवीन घूमता रहा. अंजलि को गोली करीब सात बजे लगी थी, लेकिन 35 मिनट बाद नवीन ने सात बजकर 35 मिनट पर अपने चाचा को फोन किया. उन्हें बताया कि अंजलि ने खुदकुशी कर ली है. अब वो भी खुदकुशी करने जा रहा है.

परिवार वाले डर गए और उन्होंने तुरंत पुलिस को इत्तला की. पुलिस ने जब तलाश शुरु की, तो नवीन अपनी गाड़ी के साथ उसी जगह पर मिला, जिस जगह पर करीब एक घंटा पहले एक गोली चली थी और जिसने अंजलि की जान ली थी. इसके बाद इस कत्ल की कहानी का कच्चा-चिट्ठा खुल गया. सच लोगों के सामने आ गया. बताया जा रहा है कि दो बच्चों की मां अंजलि 40 साल की एक महिला थी, जिसका पति संजय मोमबत्ती का कारोबार करता है. वहीं 30 साल के नवीन का जूतों का खानदानी कारोबार है.

नवीन की पंद्रह दिन पहले ही शादी हुई थी. अंजलि दिल्ली के रोहिणी इलाके में रहती थी, जबकि नवीन त्रीनगर में. दोनों सात साल पहले मिले, लेकिन ये मुलाकात लव, सेक्स, ब्लैकमेलिंग से गुजरते हुए मर्डर के मुकाम तक पहुंच गई. वारदात वाली रात उसने अंजलि को मिलने के लिए बुलाया था. इस दौरान उसने अंजलि की कनपटी पर देसी पिस्तौल से गोली चला दी. अंजलि से नवीन इसलिए नाराज हो गया क्योंकि वो मोबाइल क्लिप उसे देने को तैयार नहीं थी, जिसमें उनके नाजायज रिश्तों की करतूतें दर्ज थीं.

नाम: अंजलि गर्ग
उम्र: 40 साल
स्टेट्स: दो बच्चों की मां

नाम: नवीन उप्पल उर्फ़ सन्नी
उम्र: 30 साल
स्टेट्स: बिजनेसमैन

डीसीपी मधुर वर्मा ने बताया कि दोनों के बीच पुराना अफेयर था. शादी के बाद नवीन उससे पीछा छुड़ाना चाहता था. लेकिन शायद अंजली इसके लिए तैयार नहीं थी. उसके मोबाइल फोन पर दोनों के कई ऐसे क्लिप्स थे, जिनसे वो ब्लैकमेल कर रही थी. बेटे की शादी के दौरान नवीन के पिता ने फोन पर अंजली को धमकाया भी था, पुलिस की मानें तो वो ब्लैकमेलिंग के लिए इस ऑडियो क्लिप का भी इस्तेमाल कर रही थी. नवीन के पास अंजली के 5 लाख रुपए भी थे, जिसे वह लौटाना नहीं चाहता था.

इन तमाम वजहों ने मिल कर लव, लफड़ा और ब्लैकमेल का ऐसा कॉकटेल तैयार किया, जिसके नशे ने अंजली की जान ले ली. अपनी शादी के बाद नवीन अब खुद को सेफ करने के लिए अंजलि से दूर रहने के साथ-साथ उसके पास मौजूद अपने क्लिप्स और फोटोग्राफ्स लेना चाहता था. अंजलि इसके लिए तैयार नहीं हो रही थी. इसलिए नवीन ने ठंडे दिमाग से उसके कत्ल की साजिश रची. पहले कट्टे का जुगाड़ किया और फिर गोली मार कर खुदकुशी की कहानी सुना दी. लेकिन जल्द ही सच सामने आ गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें