scorecardresearch
 

बढ़ सकती हैं चिन्मयानंद की मुश्किलें! पीड़िता के परिवार ने SIT को दिया वीडियो

अब पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में पीड़ित लड़की के परिवार की तरफ से एक वीडियो मामले की जांच में जुटी एसआईटी (SIT) की टीम को सौंपा गया है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (फोटो-IANS) पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (फोटो-IANS)

  • वीडियो में स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ सबूत होने की कही जा रही है बात

  • वीडियो सामने आने के बाद जांच दल मामले में फूंक-फूंक कर रख रहा है कदम

अब पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में पीड़ित लड़की के परिवार की तरफ से एक वीडियो मामले की जांच में जुटी एसआईटी (SIT) की टीम को सौंपा गया है. बताया जा रहा है कि लड़की के परिवार ने इस वीडियो को स्वामी के खिलाफ सबूत के तौर पर पेश किया है.

वीडियो की बात सामने आने के बाद जांच दल इस मामले में फूंक-फूंक कर कदम रख रहा है. पता चला है कि उस वीडियो के बारे में एसआईटी अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है लेकिन पीड़ित लड़की के परिवार की ओर से वीडियो SIT को दिए जाने के बाद सवाल उठ रहा है कि क्या एसआईटी उस वीडियो को अपनी जांच में शामिल करेगी? क्या वो वीडियो असली है?

क्योंकि स्वामी चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह पहले तो लगातार किसी ऐसे वीडियो के होने से इनकार कर रहे थे. लेकिन अब SIT को वीडियो सौंपे जाने की बात सामने आने पर उनका कहना है कि जांच के बाद ही साफ होगा कि उस वीडियो की सत्यता क्या है.

हालांकि ओम सिंह का यह भी कहना है कि मामले की जांच कर रही एसआईटी के पास पीड़ित लड़की और उसके कुछ दोस्तों का भी वीडियो है. उससे साफ हो जाएगा कि स्वामी चिन्मयानंद को फंसाने के लिए ही ये सारा खेल रचा गया. उस वीडियो को चिन्मयानंद के वकील एसआईटी को जांच में शामिल करने के लिए देने वाले हैं.

हालांकि इन आरोपों के बाद स्वामी चिन्मयानंद की तरफ से अभी तक कोई भी जवाब नहीं आया है. लेकिन उनके वकील ने यह जरूर कहा है कि जब तक जांच नहीं होती, तब तक इस मामले का सच सामने नहीं आएगा.

इस बीच मामले की जांच कर रही एसआईटी पीड़ित लड़की और उसके पूरे परिवार को लेकर स्वामी चिन्मयानंद के आश्रम में लड़की के हॉस्टल भी पहुंची. जहां सुबह करीब 12:00 बजे से लेकर देर शाम तक एसआईटी की जांच जारी रही. एसआईटी ने अपनी जांच में लड़की के हॉस्टल में मौजूद हर एक चीज का बारीकी से मुआयना किया और हर एक सबूत को जुटाने के लिए फॉरेंसिक टीम की मदद ली गई.

जानकारी के मुताबिक एसआईटी ने हॉस्टल में रहने वाले तमाम दूसरे लोगों और स्वामी चिन्मयानंद के आश्रम के अधिकारियों से भी पूछताछ की और उनके बयान दर्ज किए. इस बीच एसआईटी ने अपने पास हॉस्टल और आश्रम से कई सबूत इकट्ठा किए हैं. जिनकी जांच की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें