scorecardresearch
 

बीफ की पुष्टि होने के बाद BJP नेता अरेस्ट, गोरक्षकों ने की थी पिटाई

सलीम शाह अपने स्कूटर पर 15 किलो बीफ ले जा रहे थे. प्रहार सेना के सदस्यों को इसकी भनक लगी और फिर उन्होंने शाह की जमकर पिटाई कर दी. सेना के सदस्यों की शिकायत पर पुलिस ने सलीम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था.

सलीम के पास बरामद मांस बीफ ही था सलीम के पास बरामद मांस बीफ ही था

नागपुर में गोरक्षकों द्वारा पीटे गए पूर्व बीजेपी नेता सलीम शाह को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया है. थोड़ी देर में सलीम शाह को कोर्ट में पेश किया जाएगा. शाह को बीफ रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

बीते शनिवार नागपुर की रीजनल फोरेंसिक लैब में सलीम के पास से बरामद मांस के बीफ होने की पुष्टि हुई थी. इस मामले में सलीम के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. बरामद मांस के बीफ की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने सोमवार को सलीम को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस केस की जांच कर रही है.

सलीम काटोल तहसील की बीजेपी की अल्पसंख्यक इकाई के पूर्व प्रभारी थे. इस मामले के सामने आने के बाद शाह को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है. वह बीते 12 वर्षों से पार्टी से जुड़े हुए थे. बीजेपी जिलाध्यक्ष राजीव पोटदार ने बताया कि शाह को निष्कासन संबंधी लेटर भेज दिया गया है.

क्या था मामला

बीते बुधवार सलीम शाह अपने स्कूटर पर 15 किलो बीफ ले जा रहे थे. प्रहार सेना के सदस्यों को इसकी भनक लगी और फिर उन्होंने शाह की जमकर पिटाई कर दी. सेना के सदस्यों की शिकायत पर पुलिस ने सलीम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था. वहीं क्रॉस FIR के बाद पुलिस ने इस केस में चार लोगों को भी गिरफ्तार किया था. हमले का एक आरोपी निर्दलीय विधायक बच्चू काडू द्वारा चलाई जा रही संस्था का तहसील अध्यक्ष बताया जा रहा है.

गोरक्षकों के आगे एसपी की चेतावनी बेअसर

इस घटना के बाद नागपुर देहात के एसपी शैलेश बालकावड़े ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने और सांप्रदायिक हिंसा भड़काने के संबंध में चेतावनी जारी की थी. हालांकि उनकी इस चेतावनी से शाह की पिटाई करने वाले गोरक्षकों पर कोई असर नहीं पड़ा. वह इस घटना का वीडियो वॉट्सएप पर शेयर कर रहे हैं. शाह के पास बरामद मीट की पुष्टि होने के बाद एसपी ने कहा, 'बीफ रखने वालों को एक साल की कैद और जुर्माने का प्रावधान है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें