scorecardresearch
 

बिहार: कोरोना संदिग्धों की दी थी सूचना, लोगों ने पीट-पीटकर मारा, 7 गिरफ्तार

प्राप्त जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र से दो लोग अपने सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर के मधौल गांव पहुंचे थे. इसकी सूचना बबलू ने स्वास्थ्य विभाग को दी थी. उसने महाराष्ट्र से लौटे दोनों व्यक्ति के कोरोना वायरस के संदिग्ध होने की आशंका पर हेल्प सेंटर को फोन कर जानकारी दी थी.

आनंद विहार के पास प्रवासियों का जमावड़ा (PTI) आनंद विहार के पास प्रवासियों का जमावड़ा (PTI)

  • स्वास्थ्य अधिकारियों को युवक ने दी थी सूचना
  • महाराष्ट्र से लौटे लोगों के बारे में दी थी खबर

बिहार के सीतामढ़ी जिले में कोरोना वायरस के संदिग्ध की जानकारी देने वाले एक युवक की पीट-पीट कर निर्मम हत्या कर दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है. घटना जिले के रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के मधौल गांव की है. यहां कोरोना जांच कर लौटे लौटे संदिग्ध लोगों ने अपने साथियों के साथ गांव के ही सूचना देने वाले बबलू नामक युवक की पीट पीट कर हत्या कर दी.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

इस घटना की सूचना मिलने पर पहुंची स्थानीय थाना पुलिस ने हत्या के सभी सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र से दो लोग अपने सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर के मधौल गांव पहुंचे थे. इसकी सूचना बबलू ने स्वास्थ्य विभाग को दी थी. उसने महाराष्ट्र से लौटे दोनों व्यक्ति के कोरोना वायरस के संदिग्ध होने की आशंका पर हेल्प सेंटर को फोन कर जानकारी दी थी. इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोनों संदिग्धों का सैंपल लिया.

इस जांच से कोरोना वायरस के दोनों संदिग्ध नाराज हो गए और स्वास्थ्य विभाग को अपना सैंपल देने के बाद अपने परिवार के अन्य 5 लोगों के साथ मिलकर बबलू की बेरहमी से पिटाई कर दी. बबलू को इस बेरहमी से मारा गया कि उनकी मौत हो गई. सूचना मिलने पर पहुंची स्थानीय थाना पुलिस ने हत्या के सभी सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है. बता दें, लॉकडाउन होने के बाद दूसरे राज्यों से लाखों लोग बिहार पहुंचे हैं जिससे इस महामारी का खतरा और बढ़ गया है. सरकार हर लौटे व्यक्ति की जांच कराने में जुटी है ताकि स्थिति आगे न बिगड़ पाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें