scorecardresearch
 

इलाहाबाद: LLB छात्र की हत्या मामले में एक और आरोपी गिरफ्तार

इस हत्याकांड को लेकर छात्रों के बीच भी भारी नाराजगी देखने को मिली. नाराज छात्रों ने धरना प्रदर्शन के दौरान आज एक सिटी बस में आग लगा दी. फायर ब्रिगेड की टीम आग बुझाने आ पाती उससे पहले ही पूरी बस धू-धू कर जलकर खाक हो गई.

मामूली कहासुनी में छात्र की पीट-पीटकर हत्या मामूली कहासुनी में छात्र की पीट-पीटकर हत्या

इलाहाबाद में मामूली कहासुनी के चलते उपजे विवाद में एक छात्र की पीट-पीटकर हत्या किए जाने के मामले में पुलिस ने सोमवार को एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. छात्र के हत्या के मुख्य आरोपी को एक दिन पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया है.

इस बीच इस हत्याकांड को लेकर छात्रों के बीच भी भारी नाराजगी देखने को मिली. नाराज छात्रों ने धरना प्रदर्शन के दौरान आज एक सिटी बस में आग लगा दी. फायर ब्रिगेड की टीम आग बुझाने आ पाती उससे पहले ही पूरी बस धू-धू कर जलकर खाक हो गई.

पुलिस ने बताया कि छात्र की हत्या में शामिल एक अन्य आरोपी ज्ञानप्रकाश अवस्थी को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने एक फॉर्च्यूनर कार भी जब्त की है. पुलिस का कहना है कि घटना वाले दिन आरोपी इसी कार में सवार होकर आए थे.

इलाहाबाद के कर्नलगंज इलाके में कटरा बाजार में एक रेस्टोरेंट में मामूली कहासुनी के बाद दबंगों ने 9 फरवरी की रात लाठी, डंडे से पीटकर 26 वर्षीय छात्र दिलीप सरोज की हत्या कर दी. दिलीप मारपीट के बाद ही कोमा में चला गया था और एक निजी अस्पताल में रविवार सुबह उसकी मौत हो गई.

दरअसल इलाहबाद डिग्री कॉलेज से LLB की पढ़ाई कर रहा दिलीप यूनिवर्सिटी रोड के पास एक रेस्टोरेंट में खाना खाने आया हुआ था. खाना खाने के बाद वह रेस्टोरेंट के बाहर सीढ़ियों पर बैठकर फोन पर बात कर रहा था.

तभी तीन से चार लोग रेस्टोरेंट की सीढ़ियों से उतरे और दिलीप से हल्का सा टकरा गए. इसी बात को लेकर दोनों में कहासुनी होने लगी उसके बाद इन लोगों ने उसे सीढ़ियों से घसीट कर बुरी तरह पीटने लगे.

जब दिलीप मरणासन्न हालत में हो गया तो बदमाश उसे रेस्टोरेंट की सीढ़ियों से घसीट कर सड़क पर ले आए और बेहोशी की हालत में भी उसके सिर और पैरों पर रॉड और पत्थरों से मारते रहे.

बदमाश शराब के नशे में इस कदर चूर थे की वो यह भी नहीं समझ पा रहे थे कि छात्र बेहोश हो चुका है. रेस्टोरेंट में लगे CCTV में यह पूरी घटना कैद हो गई, जिसके आधार पर पुलिस ने अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

इस घटना का वीडियो रोंगटे खड़ा कर देने वाला है. सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि दबंग बारी-बारी से उसे पीटते रहे और कोई भी उसे बचाने आगे नहीं आया. घंटों तक दिलीप बेहोशी की हालत में सड़क पर पड़ा रहा.

दबंगों के चले जाने के बाद कुछ लोगो ने बुरी तरह घायल अवस्था में दिलीप को एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया, लेकिन उपचार के दौरान रविवार की सुबह उसकी मौत हो गई.

घटना की सूचना पाकर रायबरेली से इलाहाबाद पहुंचे दिलीप के भाई की शिकायत पर आधा दर्जन अज्ञात बदमशों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया. डाक्टरों के मुताबिक दिलीप के सिर में गहरी चोट लगी थी, जिसकी वजह से वह कोमा में चला गया था.

इस वारदात के बारे में जानकारी देते हुए जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने कहा कि दिलीप के भाई की तहरीर पर कल सुबह तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. CCTV फुटेज और इस घटना के वायरल हुए वीडियो के आधार पर मुख्य अभियुक्त के तौर पर विजय शंकर सिंह की पहचान की गई है, जो भारतीय रेलवे में टीटीई के पद पर कार्यरत है, वह अभी फरार है.

उन्होंने बताया कि कालका होटल के मालिक अमित उपाध्याय को भी गिरफ्तार किया गया है. वह विजय शंकर सिंह को पहले से जानता था और घटना के समय वहीं मौजूद था, लेकिन इस घटना की सूचना उसने पुलिस को नहीं दी. उन्होंने कहा कि शव का पोस्टमार्टम कर उसे उसके परिजनों को सौंप दिया गया है.

कुलहरि ने माना कि भरे बाजार ऐसी घटना की सूचना थाना प्रभारी को नहीं होना, उसकी खुफिया तंत्र की विफलता है. इस घटना की जवाबदेही तय की जाएगी और ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों को निलंबित किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें