scorecardresearch
 

बुजुर्गों से कुकर्म करने वाले पुरुष नर्स को जेल

फिनलैंड की पिरकामा अदालत ने एक पुरुष नर्स को 10 से ज्यादा बुजुर्गों लोगों के साथ कुकर्म करने के मामले में नौ साल के कारावास की सजा सुनाई है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, फिनलैंड के दैनिक समाचारपत्र 'टुरुन सैनोमैट' में बुधवार को आई खबर में बताया गया कि 24 वर्षीय आरोपी वर्ष 2013 से 2014 के दौरान एक वृद्धाश्रम में बतौर पुरुष नर्स कार्यरत था. उसी दौरान उसने वहां 10 से ज्यादा बुजुर्ग लोगों का यौन उत्पीड़न किया.

अदालत ने नौ साल के कारावास की सजा सुनाई है. अदालत ने नौ साल के कारावास की सजा सुनाई है.

फिनलैंड की पिरकामा अदालत ने एक पुरुष नर्स को 10 से ज्यादा बुजुर्गों लोगों के साथ कुकर्म करने के मामले में नौ साल के कारावास की सजा सुनाई है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, फिनलैंड के दैनिक समाचारपत्र 'टुरुन सैनोमैट' में बुधवार को आई खबर में बताया गया कि 24 वर्षीय आरोपी वर्ष 2013 से 2014 के दौरान एक वृद्धाश्रम में बतौर पुरुष नर्स कार्यरत था. उसी दौरान उसने वहां 10 से ज्यादा बुजुर्ग लोगों का यौन उत्पीड़न किया.

पीड़ितों की उम्र 74 से 100 साल तक बताई गई है. उनमें से अधिकांश की याददाश्त कमजोर है. वे चलने-फिरने के लिए दूसरों के मोहताज हैं. अदालत के अनुसार, दोषी को 12 साल की कैद होनी चाहिए थी, लेकिन इस मामले में कोई प्रत्यक्षदर्शी या पीड़ित कुछ भी बता पाने की स्थिति में नहीं था. आरोपी ने जांच में पूरा सहयोग किया, इसलिए उसे सिर्फ नौ साल के कारावास की सजा सुनाई गई है.

अदालत ने दोषी को पीड़ितों को मुआवजे के तौर पर 18,000 यूरो करने का भी निर्देश दिया है. फिनलैंड के नेशनल सुपरवाइजरी अथॉरिटी ऑफ वेलफेयर एंड हेल्थ वेलवीर की इकाई निदेशक हेलेना मोंटिनेन ने समाचारपत्र को बताया कि इस वक्त यह कहना मुश्किल है कि बुजुर्गो की देखरेख के इंतजाम कड़े होने चाहिए या उनमें बदलाव होना चाहिए. इस घटना ने पुलिस-प्रशासन के कान जरूर खड़े कर दिए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें