scorecardresearch
 

जनलोकपाल आने तक नहीं मरूंगा: अन्‍ना

ऐतिहासिक रामलीला मैदान में प्रभावी लोकपाल की मांग को लेकर 10 दिनों से अनशन पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने गुरुवार को अपने पूरी तरह से स्वस्थ्य होने का संकेत देते हुए कहा कि उनकी तबीयत ठीक है और जन लोकपाल विधेयक पारित नहीं होने तक उन्हें कुछ नहीं होगा.

अन्ना हजारे अन्ना हजारे

ऐतिहासिक रामलीला मैदान में प्रभावी लोकपाल की मांग को लेकर 10 दिनों से अनशन पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने गुरुवार को अपने पूरी तरह से स्वस्थ्य होने का संकेत देते हुए कहा कि उनकी तबीयत ठीक है और जन लोकपाल विधेयक पारित नहीं होने तक उन्हें कुछ नहीं होगा.

आंदोलन से जुड़े अपने अनुभव, खबरें, फोटो हमें aajtak.feedback@gmail.com

पर भेजें. हम उसे आजतक की वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे.

रामलीला मैदान में मौजूद हजारों समर्थकों के समक्ष अपने स्वास्थ्य के बारे में आ रही चिंताजनक रिपोर्टों को खारिज करते हुए अन्ना ने कहा, 'मेरा वजन सिर्फ 6.5 किलोग्राम कम हुआ है. बाकी मेरी तबीयत ठीक है. मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं जन लोकपाल विधेयक पारित होने तक नहीं मरूंगा. मुझे आपसे काफी ऊर्जा मिल रही है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें