scorecardresearch
 

दिल्ली पुलिस ने फर्जी कॉल सेंटर का किया भंडाफोड़, विदेशी नागरिकों से ऐंठते थे रुपये

इस फर्जी कॉल सेंटर से विदेशों में फोन किए जाते थे. फोन करने वाला कम्प्यूटर में तकनीकी समस्या की बात कर विदेशी नागरिक को पहले अपने झांसे में लेता था फिर उनसे लाखों रुपये की ठगी की जाती थी.

झारखंड से पकड़ा गया सरगना झारखंड से पकड़ा गया सरगना
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोतीनगर इलाके से चल रहा था ठगी का कारोबार
  • कम्प्यूटर में खराबी के नाम पर ऐंठते थे रुपये

दिल्ली पुलिस की पश्चिमी जिले की साइबर सेल ने फर्जी कॉल सेंटर (Fake Call Centre) का भंडाफोड़ किया है. यह फर्जी कॉल सेंटर मोतीनगर इलाके में चल रहा था. इस कॉल सेंटर से विदेशी नागरिकों को कॉल कर खुद को विंडो और माइक्रोसॉफ्ट का एजेंट बता लोगों से धन उगाही चल रही थी. शिकायत पर साइबर सेल ने छापेमारी की. साइबर सेल ने मौके से नौ लोगों को गिरफ्तार किया है जिनमें से छह संचालक बताए जा रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक इस फर्जी कॉल सेंटर से विदेश में फोन किए जाते थे. फोन करने वाला कम्प्यूटर में तकनीकी समस्या की बात कर विदेशी नागरिक को पहले अपने झांसे में लेता था फिर उनसे लाखों रुपये की ठगी की जाती थी. मौके से छह कम्प्यूटर और लैपटॉप, नौ मोबाइल फोन और अन्य वस्तुएं बरामद की गई हैं. पकड़े गए आरोपियों से दिल्ली पुलिस की साइबर सेल की टीम पूछताछ कर रही है.

धोखाधड़ी का आरोपी झारखंड से अरेस्ट

दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच ने करीब सौ लोगों के साथ धोखाधड़ी के आरोपी को झारखंड से गिरफ्तार किया है. आरोप है कि उसने ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने नाम पर लाखों रुपये की ठगी की थी. ये गिरोह भारत में ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने के बहाने ठगी करता था. क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि झारखंड से पकड़े गए आरोपी की निशानदेही पर 16 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें